श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। आतंकियों और अलगाववादियों के चुनाव बहिष्कार के बीच वीरवार को श्रीनगर-बड़गाम संसदीय क्षेत्र में हुए मतदान के दौरान 90 मतदान केंद्रों में एक भी मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने नहीं पहुंचा।

गौरतलब है कि श्रीनगर-बड़गाम संसदीय क्षेत्र तीन जिलों के 15 विधानसभा क्षेत्रों में फैला हुआ है। संबधित अधिकारियो ने बताया कि श्रीनगर के 50 मतदान केंद्रों में एक भी वोट नहीं पड़ा है। इनमें से अधिकांश मतदान केंद्र ईदगाह, बटमालू,खनयार और हब्बाकदल विधानसभा क्षेत्र में स्थित हैं।

श्रीनगर में सिर्फ सोनवार विधानसभा क्षेत्र में जहां पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. फारूक अब्दुल्ला और पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला भी बतौर मतदाता दर्ज हैं, में ही 12 प्रतिशत मतदान हुआ है। श्रीनगर के अन्य विधानसभा क्षेत्रों में कहीं भी मतदान दहाई की संख्या तक पहुंच पाया। ईदगाह विधानसभा क्षेत्र में मात्र 3.3 प्रतिशत मतदान हुआ है।जिला गांदरबल में 27 मतदान केंद्रों में एक भी वोट नहीं डाला गया।

गांदरबल के नुन्नर इलाके में जहां एक एमटेक का छात्र जो कुछ दिन पहले ही आतंकी बनने के बाद सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारा गया था, कोई भी मतदाता वोट डालने घर से नहीं निकाला। जिला बड़गाम में 13 मतदान केंद्र बिना मतदान के रहे। यह वहीं मतदान केंद्र हैं जहां वर्ष 2017 के संसदीय उपचुनाव में खूब हिंसा हुई थी। बड़गाम के चाडूरा विधानसभा क्षेत्र मे आज दिनभर हुई ¨हसा के बावजूद 9.2 प्रतिशत मतदान हआ है, जबकि चरार ए शरीफ में 31.1 प्रतिशत वोट पड़े हैं। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस