मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

इलाहाबाद (जेएनएन)। कासगंज की हिंसा को लेकर बरेली के जिलाधिकारी आर विक्रम सिंह सिंह के फेसबुक पोस्ट को लेकर उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री बेहद नाराज हैं। आज यहां केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि डीएम का यह बयान सियासी पार्टी के प्रवक्ता की तरह है। इसको किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 

संगमनगरी इलाहाबाद में आज डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि जिलाधिकारी आर विक्रम सिंह ने अपने फेसबुक पोस्ट पर सियासी पार्टी के प्रवक्ता की तरह बयान दिया है। डीएम ने जिस तरह से बयानबाजी की है, इसे बर्दाश्त नही किया जाएगा और उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।

केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि प्रदेश सरकार बरेली डीएम की फेसबुक पोस्ट का संज्ञान लेगी। कासगंज के मामले में सरकार की कोई विफलता नहीं है। जो भी तिरंगे का अपमान करेगा सरकार उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। कासगंज में पहले दिन की घटना के दोषियों को अब तो जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। पाताल में होंगे तो वहां से भी पकड़कर लाएंगे। हिंसा की शुरुआत करने वालों को कोई बचा नही पायेगा। केशव मौर्य ने कहा कि घटना के बाद जो घटनाएं हुईं, प्रशासन उन पर नजर बनाए हुए है। 

अब वहां पर स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी की घटना से वह खुद व्यक्तिगत तौर पर आहत हैं। इस तरह की घटना देश और प्रदेश में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वहीं मामले में विपक्ष के योगी सरकार पर उठाए जा रहे सवाल पर डिप्टी सीएम ने कहा कि इस मामले में सरकार की कोई विफलता नहीं है। जो भी तिरंगे का अपमान करेगा सरकार उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी। वहीं कासगंज हिंसा को लेकर बरेली के डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह के विवादित पोस्ट पर डिप्टी सीएम ने नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि बरेली डीएम की फेसबुक पोस्ट को सरकार स्वीकार नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि बरेली के डीएम ने किसी पार्टी के प्रवक्ता की तरह पोस्ट किया है। सरकार डीएम बरेली की पोस्ट का संज्ञान लेंगी और आवश्यक करवाई भी करेगी। साथ ही उन्होंने विपक्षी दलो को राय दी कि कासगंज मामले में राजनीति न करें।

कासगंज साम्प्रदायिक हिंसा को लेकर बरेली के डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह की फेसबुक पोस्ट के बाद नया विवाद खड़ा हो गया है। बरेली के डीएम राघवेंद्र विक्रम सिंह ने फेसबुक पर तिरंगा यात्रा को लेकर विवादित पोस्ट की। डीएम ने लिखा है कि अजब रिवाज बन गया है। मुस्लिम मौहल्ले में जबरदस्ती जलूस ले जाओ और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाओ। क्यों भाई वे पकिस्तानी हैं क्या। यही यहां बरेली में खैलम में हुआ था। फिर पथराव हुआ, मुकदमे लिखे गए। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप