जेएनएन, नारनौंद (हिसार)। सांसद दुष्यंत चौटाला ने पहली बार दादा आेमप्रकाश चौटाला पर हमला किया। उन्‍होंने कहा कि दादा ने तो हमें पार्टी से निकालकर चक्रव्यूह में फंसा दिया था, लेकिन जनता के भरोसे चौधरी देवीलाल के विचारों के साथ एक नई शुरुआत करेंगे। मैं जनता के कारण ही नेता बना हूं और लोगों के बीच में रहकर हमेशा समाजसेवा करता रहूंगा।

चाचा अभय चौटाला पर किया कटाक्ष, बोले-मुझे जनता ने नेता बनाया

दुष्यंत चौटाला यहां कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पहले और आज की परिस्थितियां काफी बदल चुकी हैं। दादा ओमप्रकाश चौटाला के आशीर्वाद से सब ठीक हो जाएगा। उन्होंने अभय चौटाला पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कुछ लोग ये प्रचार कर रहे हैं कि मैंने ही दुष्यंत को नेता बनाया है, लेकिन मुझे तो जनता ने नेता बनाया है। मैं हमेशा जनता के बीच में रहकर इनके हकों की लड़ाई लड़ता रहूंगा।

उन्‍हाेंने कहा कि 9 दिसंबर को जींद में होने वाले सम्मेलन में पार्टी का एलान कर दिया जाएगा और उसके तुरंत बाद कार्यकारिणी का गठन करके प्रदेश में मजबूती से लोगों के बीच में जाकर उनका आशीर्वाद लेंगे। उन्होंने कहा कि वर्ष 1971 में भी चरण ङ्क्षसह ने चौधरी देवीलाल को पार्टी से निकाल दिया था। तब देवीलाल घबराए नहीं थे। बल्कि जनता के साथ मिलकर उन्होंने नई पार्टी खड़ी कर दी।

दुष्‍यंत ने कहा, दादा ने हम दोनों भाइयों और डाॅ. अजय सिंह चौटाला की छुट्टी कर दी है। अब हम भी जनता के बीच में जाकर उनका साथ लेकर आगे बढ़ेंगे। सभी को जोड़कर अगले कदम प्रदेश के विकास के लिए बढ़ाएंगे। जींद की धरती से भविष्य की लड़ाई का एलान होगा। दुष्यंत ने कहा कि सभी कार्यकर्ता हौसला रखें। हमेशा सच्चाई की ही जीत होती है और बुराई को मुंह की खानी पड़ती है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस