चंडीगढ़, जेएनएन। पंजाब कांग्रेस में कलह थमने के बजाय बढ़ती ही जा रही है। कांग्रेस के राज्‍यसभा सदस्‍य प्रताप सिंह बाजवा का मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर हमला तेज हो गया है। मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर के खिलाफ बाजवा और ज्यादा आक्रामक हो गए हैं। पंजाब के कई मंत्रियों की अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग से बाजवा और भड़क गए हैं। बाजवा ने कहा कि मैं गीदड़ भभकी से डरने वाले नहीं हूं। कैप्टन चाहें तो मुझे गोली मार दें।  

पूछा- चुनाव से पहले अमित शाह से क्यों मिले थे सीएम, उनके साथ क्या रिश्ता है

बाजवा ने कहा कि मैं किसी से नहीं डरता हूंं और लोगों के हित में आवाज उठाता रहूंगा। इतिहास गवाह है कि सच बोलने वालों का सिर कलम हुआ है। बाजवा ने कहा, 'जो लोग मेरे खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग कर रहे हैं, उन्हें इस बात का जवाब देना चाहिए कि आखिर अमित शाह और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच क्या रिश्ता है। कैप्टन अमरिंदर सिंह 2017 के विधानभा चुनाव से पहले  अमित शाह से क्यों मिले थे।'

चंडीगढ़ में अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत में बाजवा ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को खुली चुनौती दे डालीऔर कहा वह पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी से उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए मिलें। उसके बाद मैं भी मिलूंगा। वैसे पार्टी हाईकमान को भी कैप्टन की सारी करतूत का पता है।   

बोले- मुझे कैप्टन के पाप का हिस्सेदार नहीं बन सकता

बाजवा ने कहा, 'गुटका साहिब लेकर कैप्टन अमरिंदर ने कसम खाई थी। मैं उनके पाप में हिस्सेदार नहीं बन सकता। सरकार ने बिजली सस्ती करने का वादा किया था, लेकिन 12 बार बिजली की कीमतें बढ़ चुकी हैं। लोग उनसे सवाल पूछ रहे हैं। जिन लोगों ने कांग्र्रेस को वोट डाली थी, वह आज पूछ रहे हैं कि जितनी तनख्वाह नहीं है, उतने तो बिजली के बिल हो गए हैं। ऐसे में क्या जवाब दें? कैप्टन को इन सवालों के जवाब देने ही पड़ेंगे।'

 

कहा- मुझसे तीन साल में एक बार मिले, तो लोगों का क्या हाल होगा

एक सवाल के जवाब में बाजवा ने कहा कि कांग्रेस को कैप्टन की जरूरत है, क्योंकि कांग्रेस ने चुनाव में जो वादे किये थे, उनसे मुंह मोड़ लिया है। इसका जवाब देने के लिए कैप्टन अमरिंदर की जरूरत है। मुख्यमंत्री होने के नाते कैप्टन को ही इसका जवाब देना होगा। बात हो रही है कि पार्टी प्लेटफॉर्म पर अपनी बात रखनी चाहिए, जबकि हकीकत यह है कि तीन सालों में कैप्टन मुझे एक बार ही मिले हैं। जब राज्यसभा सदस्य को मुख्यमंत्री एक बार मिल रहे हैं, तो आम लोगों का क्या हाल होगा।

बोले- बेअदबी के दोषियों को सजा से ही लगेगा जख्मों पर मरहम

बरगाड़ी और बहिबलकलां गोलीकांड पर बाजवा ने कहा कि जनरल डायर ने जलियांवाला बाग में गोली चलवाई थी, बरगाड़ी और बहिबल कांड में सुखबीर बादल और पूर्व डीजीपी सुमेध सिंह सैनी ने वहीं भूमिका अदा की। इनके खिलाफ जब तक कार्रवाई नहीं होती, तब तक पंजाब के लोगों खासकर सिख कौम के जख्मों पर मरहम नहीं लगने वाला।

पंजाब और अपना भविष्य खराब करने की इजाजत नहीं दे सकता

बाजवा ने अपने भविष्य पर भी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा, मैं कैप्टन से 17 साल छोटा हूं। पंजाब में मेरा और कांग्रेस का भविष्य है। इसे खराब करने की इजाजत नहीं दी जा सकती। 2017 में कैप्टन ने कहा था कि यह उनका अंतिम चुनाव है। इसे लेकर ही बाजवा ने अपने भविष्य की चिंता व्यक्त की।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: दो छात्राओं ने बनाया कमाल का उपकरण, सेनेटरी पैड को खाद में बदलेगा ईको फ्रेंडली 'मेन्सयू बर्नर'


यह भी पढ़ें: श्री हरिमंदिर साहिब की हेरिटेज स्ट्रीट में तोड़फोड़, सिख संगठनों के 11 सदस्य हिरासत में



यह भी पढ़ें: पंजाब कांग्रेस में घमासान, बाजवा की अमरिंदर के खिलाफ खुली बगावत, मंत्रियों ने कहा- कांग्रेस से निकालो

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!