लखनऊ, जेएनएन। Defence Expo 2020 : एयरक्राफ्ट सेवा क्षेत्र में अब मिलकर कदम बढ़ाने का निर्णय अडानी समूह और एयरबस इंडिया ने लिया है। दोनों कंपनियों ने यहां डिफेंस इंडिया एक्सपो में समझौता कर तय किया कि भारत और दक्षिण एशियाई बाजार में सेवाओं के अवसर अब मिलकर खोजे जाएंगे। एक एमओयू एल्बिट एडवांस्ड सिस्टम इंडिया लिमिटेड ने भी अडानी समूह के साथ किया।

लखनऊ में आयोजित डिफेंस इंडिया एक्सपो 2020 में एयरबस इंडिया एंड साउथ एशिया के प्रेसीडेंट व एमडी आनंद स्टैनली और अडानी डिफेंस एंड एयरोस्पेस के प्रमुख आशीष राजवंशी ने एमओयू पर हस्ताक्षर किए। एयरबस की वैश्विक सेवा संबंधी भविष्यवाणी के अनुसार भारतीय एयरक्राफ्ट सेवाओं का बाजार वर्ष 2025 तक 6.3 बिलियन डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है।

आनंद स्टैनली ने कहा कि एयरबस नागरिक उड्डयन कंपनी के साथ ही एयरक्राफ्ट सेवा प्रदाता भी है। यह एमओयू एयरोस्पेस उत्पादों के लिए एक विश्वस्तरीय सेवा केंद्र के रूप में भारत के विकास को सहयोग देने के लिए हमारी प्रतिबद्धता को दर्शाता है। अडानी समूह के आशीष राजवंशी ने कहा कि भारत एयरक्राफ्ट सेवा बाजार में वृद्धि के शिखर पर है। एयरबस के साथ हमारा गठबंधन राष्ट्र निर्माण और महत्वपूर्ण प्रौद्योगिकी तथा सेवाओं को स्वदेशी बनाने के हमारे लक्ष्य के अनुसार है।

अडानी समूह के साथ एल्बिट ने भी किया एमओयू

एल्बिट एडवांस्ड सिस्टम इंडिया लिमिटेड ने भी अडानी इंटरप्राइजेज इंडिया के साथ एक एमओयू किया। दोनों कंपनियां डिजाइन एंड डेवलपमेंट सेंटर फॉर डिफेंस टेक्नोलॉजी की स्थापना को लेकर सहमत हुईं। यह डिजाइन सेंटर सशस्त्र बलों की जरूरतों के अनुरूप भविष्य के उत्पादों के निर्माण के लिए आरएंडडी इंजीनियरों के रोजगार सृजन को बढ़ावा देगा।

अडानी एल्बिट एडवांस्ड सिस्टम्स इंडिया लिमिटेड के संयुक्त उपक्रम ने स्वदेशी मानवरहित एरियल प्लेटफॉर्म के लिए हैदराबाद स्थित अडानी एयरोस्पेस पार्क में पहला निजी यूएवी विनिर्माण परिसर स्थापित किया है। इजरायल के बाहर हर्मीज 900 की उत्पादन सुविधा वाला यह एकमात्र परिसर है, जिसका उद्घाटन दिसंबर 2018 में हुआ था।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस