लखनऊ, जेएनएन। हम थ्री-नॉट-थ्री हैं और यह कितना शक्तिशाली शस्त्र है आप खुद जानते हैं। इसलिए हमने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए हटाकर हमने 70 साल का इतिहास बदल दिया। क्योंकि देश की जनता ने हमपर विश्वास करके 303 सीटे जिताकर हमें यह मौका दिया था। रक्षामंत्री ने कहा कि मित्रों हमने भारत के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ा इसलिए हथियारों की याद कुछ ज्यादा आने लगी है। शुक्रवार को यह बातें रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने राजधानी लखनऊ में मध्य विधानसभा क्षेत्र के कार्यकर्ता अभिनंदन समारोह के दौरान गोमतीनगर स्थित सीएमएस ऑडीटोरियम में कहीं। 

सरकार बनते ही पूरी हुई मंशा, अनुच्छेद 370 और 35ए समाप्त  
रक्षामंत्री ने कहा कि मुझे याद है भारतीय जनसंघ की जब स्थापना हुई थी, तब से लेकर आज तक हमारे कार्यकर्ता यही कहते रहें कि हमारी जब सरकार बन जाएगी तब हम अनुच्छेद 370 और 35ए समाप्त करेंगे। जिसके बाद जम्मू-कश्मीर भारत का एक अभिन्न अंग बन जाएगा। जो संविधान भारत के लिए लागू होगा, वही संविधान जम्मू-कश्मीर के लिए लागू होगा। यह संकल्प हमारे कार्यकर्ताओं का संकल्प तब से अबतक था। हमारे भारतीय जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने एक निशान, एक विधान और एक प्रधान देश में होना चाहिए। इस संकल्प के साथ उन्होंने अपना बलिदान दे दिया। उनकी यह मुराद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूरी की है। अनुच्छेद 370 और 35ए हटाने का सिलसिला पिछली सरकार से ही शुरू हो गया था। प्रधानमंत्री की इच्छा थी कि जल्दी से यह काम हो जाए। लेकिन उसमे राज्यसभा में बहुमत न होने के कारण संभव नहीं हो सका। अब जम्मू-कश्मीर का अगल से कोई संविधान नहीं होगा। एक ही संविधान से पूरा भारत चलेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की प्रसंशा करना चाहता हूं कि अंतरराष्ट्रीय जगत में ऐसी स्थितियां पैदा कर दी जो पाकिस्तान, भारत के साथ इधर-उधर की स्थितियां पैदा करने में लगा था, आज वह खुद अलग-थलग पड़ा है। कांग्र्रेस जैसी पार्टी में कुछ लोगों ने कहा कि अनुच्छेद 370 और 35ए समाप्त नहीं होनी चाहिए।

भारत के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ा
देश की जनता और हमारे कार्यकर्ताओं ने भारत के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ा है। जिसके कारण भारतीय जनता पार्टी को अपनी दमखम पर 303 सीटें प्राप्त हुई हैं। जिसके बाद हमने जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटा दी। इस दौरान उन्होंने मुस्कुराते हुए कहा कि अभी तो थ्री-नॉट-थ्री हैं इसके आगे क्या होगा आप खुद जानते हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि मित्रों हमने भारत के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ा इसलिए हथियारों की याद कुछ ज्यादा आने लगी है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कहा कि हमारे लखनऊ संसदीय क्षेत्र में इतनी बड़ी कामयाबी बीजेपी को कभी नहीं मिली जो हमारे कार्यकर्ताओं ने दिलाई है। क्षेत्र की जनता का भी आशीर्वाद हमें मिला। इसलिए हमने कहा था कि हम बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं का अभिनंदन करेंगे। क्योंकि हमारा कार्यकर्ता पांच साल कड़ी मेहनत करता है, तब हमें यह विजयी मिलती है। 

स्मृतिका पर शहीदों को अर्पित की श्रद्धांजलि
सबसे पहले रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ के चौधरी चरण सिंह इंटरनेशनल एयरपोर्ट से सीधा छावनी क्षेत्र में मध्य कमान के वार मेमोरियल पहुंचे। स्मृतिका पर उन्होंने शहीदों को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। इसके बाद लेफ्टीनेंट जनरल अभय कृष्णा ने मध्य कमान द्वारा परिचालन और प्रशासनिक मुद्दों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। इसके बाद रक्षामंत्री 11 राइफल्स रेजीमेंटल सेंटर पहुंचे। जहां, उन्होंने सैन्य कर्मियों और प्रशिक्षण केंद्र में रंगरूटों के साथ बातचीत की। इस बीच रक्षा मंत्री ने मध्य कमान की युद्ध क्षमता और परिचालन तत्परता में खुशी और विश्वास व्यक्त करते हुए जवानों को शाबासी दी। उन्होंने सेवारत सैन्य कर्मियों और भूतपूर्व सैनिकों के कल्याण कारी नीतियों के लिए कमान द्वारा किए जा रहे प्रयासों पर संतोष व्यक्त किया। 

जवानों का जज्बा देख खुश हुए रक्षामंत्री 
11 गोरखा राइफल्स रेजीमेंटल सेंटर में जवानों ने पैरास्लाइडिंग, रॉक क्लाइबिंग और मार्शल आर्ट का प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान जवानों की स्फूर्ति और जज्बा देखने लायक था। इस पर रक्षमंत्री ने उनकी प्रशंसा कर खुशी जाहिर की।

जहां हुए बलिदान मुखर्जी वह कश्मीर हमारा है 
रक्षामंत्री ने कहा कि बचपन से ही वह यह नारा सुनते आए हैं कि जहां, हुए बलिदान मुखर्जी वह कश्मीर हमारा है। पर जब अनुच्छेद 370 और 35ए हटी तब मुखर्जी का सपना साकार हुआ। इतना कहकर रक्षामंत्री भावुक हो उठे। 

डिफेंस कॉरीडोर बनने से प्रदेश के बहुत से युवाओं को मिलेगी 
रक्षामंत्री ने कहा कि डिफेंस कॉरीडोर बन रहा है। जिसके बाद प्रदेश के बहुत से युवाओं को नौकरी मिलेगी। बेरोजगारी समाप्त होगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि फरवरी में डिफेंस एक्सपो लग रहा है। जिसमे देश और विदेश के कोने-कोने से बड़े-बड़े उद्योगपति आ रहे हैं। वह पांच दिन यहां रुकेंगे। जिसकी तैयारी चल रही है। जिसके बाद यहां बड़ी-बड़ी इंडस्ट्रीज लगेंगे और रोजगार बढ़ेगा। 

तीन दिवसीय प्रवास पर लखनऊ में रक्षामंत्री

  • 24 अगस्त को यानी दूसरे दिन भी राजनाथ सिंह का लखनऊ प्रवास में अभिनंदन होना है। सुबह 11:30 बजे सुग्गामऊ गांव और फिर शाम 4 बजे मोतीनगर अग्रवाल कॉलेज व शाम 5:45 बजे सीतापुर रोड पर बृज की रसोई में उनका अभिनंदन होगा। 
  • 25 अगस्त को एक निजी आयोजन में शिरकत करने के बाद रक्षामंत्री दोपहर 3:50 बजे दिल्ली रवाना होंगे। इसके साथ ही उनका तीन दिन में अन्य कार्यक्रम भी हो सकता है।  

 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस