लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की राजधानी में बुधवार से शुरू हो रहे डिफेंस एक्सपो-2020 की की कमान संभालने के लिए रक्षामंत्री व लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह मंगलवार शाम लखनऊ पहुंच गए हैं। पूरे आयोजन की जानकारी देने के लिए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में आयोजित कर्टेन रेजर सेरेमनी में पत्रकारों को संबोधित कर रहे हैं। 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कई महीनों की मेहनत का स्वप्न आज अपना वास्तविक आकार ले रहा है। इस आयोजन श्रेय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ देते हुए उनको धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि इस शानदार आयोजन के पीछे अपने देश को सुदृढ, सशक्त और समृद्धशाली बनाना है। पिछले कुछ वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेत्रत्व के कारण पूरी दुनिया में भारत का कद बढ़ा है। अब भारत को दुनिया में गंभीरता से लिया जाता है। भारत के साथ कदम से कदम मिलाकर चलना अपनी शान समझी जाती है। लखनऊ डिफेंस एक्सपों इतनी बड़ी संख्या में विदेशी निवेशकों का आना इसका उदाहरण है। 

राजनाथ सिंह ने कहा कि दुनियाभर में तेजी से बदल रही तकनीक को जानने, समझने और उससे जुड़ने के लिए डिफेंस एक्सपो-2020 एक महत्वपूर्ण आयोजन है। उन्होंने कहा कि हम भारत को डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग के रूप में तैयार कर रहे हैं और इसके लिए डिफेंस एक्सपो उचित प्लेटफॉर्म साबित होगा। मेक इन इंडिया को प्रमोट करने के लिए भी यह आयोजन सहायक होगा। उन्होंने कहा कि हमारा भारत विश्व की सबसे बड़ी आर्थिक शक्ति बनेगा। आने वाले समय में हम दुनिया की टॉप थ्री इकोनॉमी में रहेंगे। डफेंस सेक्टर इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

राजनाथ सिंह ने कहा कि हमारा लक्ष्य एक वाइब्रेंस और विश्व स्तर की डोमेस्टिक डिफेंस इंडस्ट्री बनाना है। ताकि निर्यात पर निर्भरता हमारी कम होती जाए। यह आयोजन इस लक्ष्य को प्राप्त करने में निश्चित मदद करेगा। मुझे उम्मीद है कि यह इवेंट ग्लोबल बेंच मार्क के रूप में उभर कर सामने आएगा। उन्होंने कहा कि अब तो हमारे विरोधी भी स्वीकार करते हैं कि यह सरकार जो ठान लेती है वह करके ही दम लेती है। इस आयोजन का लखनऊ में होना हमारी सरकार के विकास मॉडल को सबके सामने लाना है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश को इस आयोजन की जिम्मेदारी मिलना हम सभी के लिए प्रशन्नता का विषय है। योगी जी के नेत्रत्व में कई अंतरराष्ट्रीय इवेंस संपन्न हो चुके हैं। आज देश के साथ विदेश के भी बिजनेसमैन यूपी में निवेश के लिए उत्सुक दिखाई दे रहे हैं। यह प्रदेश के लिए गौरव की बात है। उन्होंने कहा कि डिफेंस एक्सपो से सबसे ज्यादा लाभ युवाओं को होने वाला है। यह आयोजन रोजगार के अवसर पैदा करेगा। यह उतना ही लोगों का है जितना कि सरकार व अन्य संगठनों का है। 

रक्षा उत्पाद के क्षेत्र में डिफेंस एक्सपो महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम सभी के लिए यह एक अवसर है कि पीएम नरेंद्र मोदी की भवनाओं के अनुरूप यह आयोजन हो रहा है। उन्होंने कहा कि हमने उत्तर प्रदेश डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग कॉरिडोर के लिए तैयारी पूरी कर ली है। उत्तर प्रदेश में निवेश के उत्तम अवसर हैं। हमारे पास 25 हजार एकड़ लैंड बैंक है। उन्होंने कहा कि रक्षा उत्पादों के लिए देश में इतना बड़ा डिफेंस एक्सपो पहली बार हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन करेंगे। उन्होंने कहा कि रक्षा उत्पाद के क्षेत्र में डिफेंस एक्सपो महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

बुंदेलखंड की जीवन रेखा बनेगा एक्सप्रेस-वे 

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमने इसमें निवेश के मार्ग में बाधक कारकों को चिह्नित कर उसे दूर किया। भारत को रक्षा उत्पादन के क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए तथा देश को रक्षा उत्पादों के एक्सपोर्ट का हब बनाने के लिए यह एक्सपो अच्छा अवसर है। उन्होंने कहा कि पहली बार एचएएल के दो 19 सीटर विमानों को यात्री सेवा के लिए उपलब्ध कराया जा रहा है। इसकी शुरुआत उत्तर प्रदेश से हो रही है। प्रदेश सरकार इसी माह बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास करने जा रही है, यह बुंदेलखंड की जीवन रेखा बनेगी। 

एयरपोर्टों को हर सुविधा से लैस करने की योजना

सीएम योगी ने कहा कि हम उत्तर प्रदेश में 11 नए एयरपोर्टों का निर्माण करने जा रहे हैं। जेवर, अयोध्या, कुशीनगर सहित सभी प्रस्तावित एयरपोर्टों को हर सुविधा से लैस करने की योजना है। यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'चप्पल पहनने वाले व्यक्ति' का हवाई जहाज में चलने के सपने को पूरा करने की दिशा में एक कदम है। कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के मुख्यमार्ग को इस वर्ष के अंत तक यातायात के लिए खोल देंगे। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे, जो बुंदेलखंड की इकोनॉमी की बैक-बोन होगी, इसका शिलान्यास हम इसी माह 29 तारीख को करने जा रहे हैं। कहा कि देश के सबसे बड़े एक्सप्रेस-वे, 'गंगा एक्सप्रेस-वे' के निर्माण की प्रक्रिय भी हमने शुरू कर दी है। इसके लिए मेरठ से प्रयागराज तक का क्षेत्र चिह्नित किया गया है, लेकिन आवश्यकता पड़ी तो इसे हरिद्वार तक ले जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे उद्घाटन

इससे पहले राजनाथ सिंह ने इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में एक्सपो की कर्टेन रेजर सेरेमनी में भाग लिया और अफसरों के साथ तैयारियों की समीक्षा की। सेरेमनी में एक्सपो की थीम और रक्षा क्षेत्र के आधुनिकीकरण और देसी तकनीक के बूते विश्व में अग्रणी मुकाम हासिल करने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों के बारे में बताया गया। बता दें कि पांच से नौ फरवरी तक राजधानी लखनऊ में डिफेंस एक्सपो का आयोजन हो रहा है। पांच फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसका उद्घाटन करेंगे। राजनाथ सिंह पर इस आयोजन की दोहरी जिम्मेदारी है। रक्षा मंत्री होने के साथ ही वह लखनऊ के सांसद भी हैं। इस नाते वह शुरू से ही लगातार आयोजन की मॉनीटरिंग कर रहे हैं।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस