लखनऊ, जेएनएन। Coronavirus : उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से बचाव के एहतियाती कदम के तौर पर राजभवन में तीन अप्रैल तक आम नागरिकों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। राजभवन के सभी अधिकारियों, कर्मचारियों व अन्य आगन्तुकों को प्रवेश द्वार पर पानी और लिक्विड सोप से हाथ धुलने और सैनिटाइजर से हाथ साफ करने के बाद ही प्रवेश दिया जाएगा। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेशवासियों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से 22 मार्च को सुबह सात से रात नौ बजे तक जनता कर्फ्यू लागू करने के सुझाव को सफल बनाने की अपील की है।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने  22 मार्च दिन रविवार को जनता कर्फ्यू के दौरान लोगों से सुबह सात से रात नौ बजे तक घर से बाहर न निकलने और खुद को घर के अंदर तक ही सीमित रखने का आग्रह किया है। लोगों को अपरिहार्य स्थिति में ही घर से बाहर निकलने तथा भीड़-भाड़ वाली और सार्वजनिक जगहों पर जाने से बचने की सलाह दी है। प्रधानमंत्री के अनुरोध पर आवश्यक सेवाओं और उपचार में लगे लोगों के धन्यवाद और उत्साहवर्धन के लिए 22 मार्च को शाम पांच बजे पांच मिनट के लिए अपने घरों के दरवाजे या खिड़की पर आकर करतल ध्वनि कर धन्यवाद दें।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि इस महामारी से बचाव में सहयोग कर राष्ट्र की सेवा में अपना योगदान दें। राज्यपाल ने कहा है कि स्वयं भी बचें और दूसरों के स्वास्थ्य का भी ख्याल रखें। राज्यपाल के निर्देश पर उनके अपर मुख्य सचिव हेमंत राव की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में प्रधानमंत्री के सुझावों पर अमल करने के लिए कहा गया है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस