जयपुर, जेएनएन। राजस्थान में चल रहे सियासी घटनाक्रम के बीच सचिन पायलट के खास विधायक विश्वेंद्र सिंह ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा है। विश्वेंद्र सिंह ने ट्वीट किया, मुख्यमंत्री जी पिछले 18 माह से मैने आपसे मिलकर व्यक्तिगत रूप से प्रदेश के लोगों एवं मेरे विभाग की समस्याओं के बारे में बार-बार अवगत कराया लेकिन आपने इस और कोई ध्यान नहीं दिया, आखिर क्यों ?।

दूसरा ट्वीट किया आज जब सरकार अल्पमत में है तब आपने पर्यटन विभाग के कर्मचारियों की समस्याओं पर ध्यान दिया, काश यह काम आप थोड़ा पहले कर देते गहलोत जी, तो ना यह सरकार अल्पमत में होती ना हमें दिल्ली आना पड़ता। उन्होंने तीसरे ट्वीट में लिखा,मुख्यमंत्री जी यदि आप पिछले 18माह में कांग्रेस के कार्यकर्ताओं,प्रदेश की जनता के काम करते जो आज आप 5स्टार होटल में बैठकर कर रहे हो, तो ना प्रदेश की जनता विरोध करती, ना सरकार अल्पमत में होती, ना हम दिल्ली आते ।उल्लेखनीय है कि विश्वेंद्र सिंह अशोक गहलोत सरकार में पर्यटन मंत्री थे । लेकिन सचिन पायलट और सीएम गहलोत के बीच चले विवाद में विश्वेंद्र सिंह पायलट के साथ मानेसर चले गए । वे पायलट के सबसे विश्वस्त माने जाते हैं।

जयपुर से जैसलमेर ले जाए गए कांग्रेस विधायक

अपने डिप्टी रहे सचिन पायलट समेत 19 विधायकों के बगावत करने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अपनी सरकार बचाने के लिए हर जतन कर रहे हैं। सियासी संग्राम के बीच जयपुर के होटल में ठहराए गए गहलोत समर्थक विधायकों को 19 दिन बाद जैसलमेर के होटल सूर्यग़़ढ ले जाया गया है। यहां उन्हें 14 अगस्त को विधानसभा सत्र शुरू होने तक रखा जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि विधायक बोर हो गए थे, इसलिए जैसलमेर ले जाया गया है।

जयपुर के फेयरमाउंट होटल में ठहराए गए कांग्रेस के 95 विधायकों के साथ मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे व चारों प्रदेश प्रभारी सचिव भी जैसलमेर गए हैं। चार मंत्री जयपुर में रहकर सरकार के महत्वपूर्ण कामकाज का संचालन करेंगे।

Posted By: Shashank Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस