लखनऊ, जेएनएन। UP Bus Politics : यूपी की भाजपा सरकार ने जहां कांग्रेस को बसों की फर्जी सूची पर घेरने की तैयारी कर ली है, वहीं कांग्रेस का बार-बार दावा है कि वह सिर्फ सेवाभाव से बसें चलाना चाहती है। पार्टी महासचिव प्रियंका वाड्रा ने कांग्रेस सोशल मीडिया हैंडल से वीडियो जारी कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि चाहें तो अपने झंडे और बैनर लगा लें लेकिन, बसें चलने दें। हालांकि आरोप-प्रत्यारोप के इस दौर के बीच ही बुधवार शाम यूपी सीमा से बसों की वापसी शुरू हो गई। 

कांग्रेस की यूपी प्रभारी प्रियंका वाड्रा ने इस वक्त राजनीति न करने की अपील करते हुए कहा कि यदि बसें चलाने की अनुमति मिलती तो अब तक 92 हजार गरीब अपने घर पहुंच चुके होते। उन्होंने कहा कि दूसरे राज्यों से आ रहे श्रमिक-कामगार पैदल ही इतनी धूप में अपने घरों को निकले हैं। वे बहुत परेशान हैं। हम सबको अपनी जिम्मेदारी समझनी पड़ेगी। यह राजनीति का समय नहीं है। कांग्रेस अभी तक 67 लाख लोगों की मदद कर चुकी है। उनमें 60 लाख उत्तरप्रदेश के और सात लाख जो प्रदेश से बाहर फंसे हुए थे। उन्हें खाना, राशन की जरूरत थी।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने कहा कि हमारी भावना शुरू से सकारात्मक रही है। सकारात्मक रूप से हमने मुख्यमंत्री को सुझाव दिए कि आपको ठीक लगे तो अमल करें। जहां-जहां हमें उनके काम अच्छे लगे, हमने तारीफ भी की, स्वागत भी किया। जब कई सड़क हादसे हुए, हमने देखा कि यूपी रोडवेज की बसें सक्रिय नही हैं तो मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखी कि हम 1000 बसें उपलब्ध करवाएंगे। इस लेकर राजनीति शुरू हो गई। लिस्ट गलत बता रहे हैं, चालक-परिचालक का नाम गलत है। मैं सरकार पर कोई सवाल नहीं करना चाहती। हमने कहा था कि अगर कुछ चालक-परिचालक का नाम, गाड़यों की गलत लिस्टिंग हुई है तो आप भेज दीजिए, हम दूसरी लिस्ट भेज देंगे। 

यूपी सीमा से बसें हटनी शुरू 

बुधवार शाम कांग्रेस ने यूपी सीमा से बसें हटानी शुरू कर दीं। चूंकि, मंगलवार रात को ही कांग्रेस ने सरकार को पत्र लिखकर कह दिया था कि बुधवार शाम चार बजे तक बसें बॉर्डर पर खड़ी रखेंगे, तब तक अनुमति न दी गई तो बसें वापस वापस कर लेंगे। इसलिए सायंकाल कांग्रेस ने बसों को वापस करना शुरू कर दिया। इधर, प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी के विरोध में पार्टी ने प्रदेश मुख्यालय से लेकर जिलों तक में धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने 'बस सियासत' पर अपनी ही पार्टी को निशाने पर लिया, कह दी यह बात...

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस