लखनऊ, जेएनएन। जीवनदायिनी मानी जाने वाली गंगा नदी के प्रति आमजन को जागरूक करने के लिए प्रदेश सरकार 27 से 31 जनवरी तक प्रस्तावित गंगा यात्रा को भव्य-दिव्य स्वरूप देने की तैयारी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गंगा नर्सरी, गंगा तालाबों की स्थापना सहित गंगा यात्रा के साथ अर्थ-गंगा अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने दो टूक कहा है कि यह आयोजन अन्य प्रदेशों के लिए प्रेरणा का प्रतीक बनना चाहिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अपने कालिदास मार्ग पर सरकारी आवास पर गंगा यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की। पहली यात्रा बिजनौर से कानपुर और दूसरी यात्रा बलिया से कानपुर तक होनी है। यात्राओं का शुभारंभ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गंगा आस्था का प्रतीक होने के अलावा देश के विकास और समृद्धि में भी सहायक हैं। उत्तर प्रदेश, देश का पहला राज्य है, जहां इस प्रकार की गंगा यात्रा आयोजित की जा रही है। इस यात्रा की तैयारियां ऐसी की जाएं, जो गंगा के गुजरने वाले प्रदेशों की प्रेरणा का प्रतीक बनें। उन्होंने कहा कि गंगा बेसिन एक उर्वर क्षेत्र है और यह प्रदेश व देश की अर्थव्यवस्था का संबल भी है।

हल्दिया से लेकर वाराणसी तक मल्टी मोडल टर्मिनल को भी प्रदेश में अर्थ-गंगा से जोडऩे की कार्ययोजना बनाएं। यात्रा के दौरान 26 जिलों में सभी विभाग जनकल्याणकारी कार्यक्रमों और उपलब्धियों के बारे में जनता को बताएं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 1025 किमी की यह गंगा यात्रा 26 जिलों, 1026 ग्राम पंचायतों और 1638 राजस्व ग्रामों से गुजरेगी। यात्रा प्रतिदिन सड़क के साथ ही जलमार्ग से भी गुजरनी चाहिए। नगर विकास विभाग को निर्देश दिए कि लिक्विड व सॉलिड वेस्ट किसी भी दशा में गंगा में न गिरे। इनके प्रबंधन की वैकल्पिक व्यवस्था करें। नगर निकायों में गंगा-पार्क, ग्राम पंचायतों में गंगा मैदान, गंगा तालाब बनाने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि 1026 ग्राम पंचायतों में यह सुनिश्चित कर लें कि कोई भी परिवार व्यक्तिगत शौचालय से वंचित न हो।

बैठक में उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही, जल शक्ति मंत्री डॉ. महेंद्र सिंह, नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह, मुख्य सचिव आरके तिवारी, पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी भी उपस्थित थे।

26 जिलों में बनेंगी गंगा नर्सरी

योगी आदित्यनाथ ने उद्यान विभाग को निर्देश दिए हैं कि यात्रा की राह के सभी 26 जिलों में गंगा नर्सरी विकसित करें। नर्सरियों के चारों तरफ फुटपाथ व ट्रैक बनाए जाएंगे, जिन्हें पार्क के रूप में विकसित किया जा सके। 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस