शामली (जेएनएन)। भारतीय जनता पार्टी के दिग्गज नेता तथा शामली से सांसद हुकुम सिंह के कल रात में निधन के बाद आज उनका पार्थिव शव यहां पहुंचने के बाद लोगों का हुजूम उनके घर पर उमड़ पड़ा। इसी बीच सीएम योगी आदित्यनाथ करीब 10:30 बजे उनके आवास पर पहुंचे।

माना जा रहा था कि सीएम योगी आदित्यनाथ दोपहर तक स्वर्गीय हुकुम सिंह के आवास पर पहुंचेंगे। सीएम योगी प्रदेश के मंत्री सुरेश राणा के साथ हुकुम सिंह के आवास पर उनके अंतिम दर्शन को पहुंचे है। राज्यमंत्री सुरेश राणा आए मुख्यमंत्री कार से सीधा हुकुम सिंह के निवास स्थान पर पहुंचे हैं। उनके घर के बाहर उमड़े लोगों को सुरक्षा व्यवस्था के कारण बाहर रोका गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हेलीकॉप्टर से 10 बजकर 20 मिनट पर कैराना में उतरे। हेलीकॉप्टर के विजय सिंह पथिक कॉलेज में उतरते ही सीएम को एसपीजी और सुरक्षा एजेंसियों ने अपने घेरे में ले लिया। इसके बाद सीएम कार से 10 बजकर 25 मिनट पर कैराना मायापुर फार्म हाउस पर पहुंचे। सीएम ने सांसद के फार्म के अंदर बने कमरे में पहुंचकर सांसद हुकुम सिंह को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, राज्यमंत्री सुरेश राणा, सांसद संजीव बालियान, विधायक तेजेंद्र निर्वाल, भाजपा जिलाध्यक्ष पवन तरार भी सीएम के साथ मौजूद रहे। फार्म हाउस के अंदर सीएम योगी आदित्यनाथ ने सांसद के परिवार के लोगों से वार्ता की।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा-उच्च विचारों के नेता थे हुकुम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वर्गीय सांसद हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह, बेटी के बेटे शिवा और परिवार के अन्य लोगों को सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि सांसद हुकुम सिंह के रूप में पार्टी को अपूर्णीय छवि हुई है। सदन भी सांसद की कमीं को कभी पूरा नही कर पाएगा।

उन्होंने कहा कि हुकुम सिंह अच्छे व्यवहार और उच्च विचारों के नेता थे। उनके आदर्श लोगों में हमेशा लोगों में जीवित रहेंगे। सीएम ने परिवार के लोगों को बताया कि 15 दिन पहले फोन पर सांसद से वार्ता हुई थी। सांसद गाय पालने के शौकीन थे। उन्होंने परिवार के लोगों से कभी भी कोई तकलीफ होने पर मैसेज के माध्यम से संपर्क करने की बात भी कही। उन्होंने परिवारजनों से कहा कि आपकी सभी तकलीफों को दूर करने का प्रयास किया जाएगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वर्गीय हुकुम सिंह को श्रद्धांजलि देने के साथ ही हुकुम सिंह की बिटिया मृगांका सिंह व परिवार के अन्य सभी सदस्यों को सांत्वना दी। उन्होंने बेटी को कहा कि हर मुश्किल में वह उनके परिवार के साथ खड़े है। वह लोग कभी भी उनसे सीधा मुलाकात कर सकते है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान रास्ते मे मिली गंदगी पर वहां पर अधिकारियों को फटकार लगाने के साथ ही दो दिन में वहां पर सफाई करने का निर्देश दिया। सीएम योगी आदित्यनाथ ने हेलीपैड से सांसद के आवास तक सड़क के बेहद खराब होने पर नारागजी जताई। कमिश्नर के साथ कार्यवाहक डीएम व एसडीएम को फटकारा। इसके बाद सीएम शामली से लखनऊ लौटे। 

गृह मंत्री राजनाथ सिंह त्रिपुरा में होने के कारण कैराना नहीं पहुंच सके। उन्होंने फोन पर परिवार के लोगों को सांत्वना देने के साथ ही कहा कि हुकुम सिंह जी के नाम पर कैराना से फार्म तक सड़क बनेगी। गृह मंत्री राजनाथ सिंह के विधायक बेटे पंकज सिंह कैराना पहुंचे। उन्होंने कहा कि सांसद हुकुम सिंह के निधन से देश तथा प्रदेश को बड़ी क्षति हुई है, इसे पूरा नही किया जा सकता।

हुकुम सिंह का अंतिम संस्कार दोपहर बाद होगा। कैराना के लोकप्रिय नेता स्वर्गीय हुकुम सिंह का कैराना के मायापुर फार्म हाउस में दोपहर बाद दो बजे अंतिम संस्कार होगा। हुकुम सिंह के अंतिम दर्शन के लिए उनके निवास पर भारी भीड़ उमड़ी है। सांसद हुकुम सिंह कि अंतिम यात्रा में नेताओं और अधिक संख्या में लोगों के शामिल होने पर पुलिस प्रशासन ने कैराना के चारों ओर से आने जाने वाले वाहनों का मार्ग डायर्वट किया है। वहां पर सुरक्षा को काफी सख्त कर दिया गया है।

इससे पहले आज सुबह करीब आठ बजे उनको अंतिम स्नान कराने के बाद पार्थिव शरीर को दर्शन के लिए रखा गया। उनका अंतिम संस्कार मायापुर फार्म हाउस कैराना में किया जाएगा। सीएम योगी आदित्यनाथ व राजनाथ सिंह के साथ प्रदेश व देश के कई बड़े भाजपा तथा अन्य दल के नेताओं के कैराना पहुंचने की उम्मीद है।

कैराना से सांसद हुकुम सिंह के निधन की खबर सुनते ही जनपदवासियों में शोक की लहर दौड़ पड़ी। घर पर समर्थकों को पहुंचना शुरू हो गया। हर समर्थक अपने प्रिय नेता के अंतिम दर्शन कर रहा है। सांसद हुकुम सिंह का शव देर रात 11:58 बजे यहां एंबुलेंस से कैराना पहुंचा। शव पहुंचने से पहले यमुना पुल पर सीडीओ, सीओ सहित पुलिस और प्रशासन के अन्य अधिकारी मौजूद रहे। अफसरों ने बताया कि सांसद की बेटी मृगांका सिंह, नाती सहित परिवार के अन्य लोग भी रहे।

राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी योगी आदित्यनाथ और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पांडेय समेत कई नेताओं ने सांसद हुकम सिंह के निधन पर शोक जताया है। राज्यपाल राम नाईक शोक संदेश में कहा कि हुकुम सिंह किसानों से जुड़े जमीनी स्तर के राजनेता थे। विधायक, मंत्री और सांसद रहते हुए उन्होंने सामाजिक जीवन में अहम योगदान दिया। उनके निधन से राजनीति की अपूरणीय क्षति हुई है। उन्होंने शोकाकुल परिवारीजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है।

पीएम मोदी ने किया ट्वीट

सांसद हुकुम सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए पीएम मोदी ने ट्वीट किया, उत्तर प्रदेश से सांसद और अनुभवी नेता श्री हुकुम सिंह जी के निधन से दु:खी हूं। उन्होंने यूपी के लोगों की तत्परता से सेवा की और किसानों की बेहतरी के लिए काम किया। दु:ख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार के साथ हैं। पीएम नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है।

उनके निधन से कुछ ही समय पहले भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय उन्हें देखकर ही निकले थे। हुकुम के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करने वाले गुर्जर नेता हरिश्चंद्र भाटी व योगेंद्र चौधरी ने बताया कि हुकुम सिंह कैराना विधानसभा से लगातार सात बार विधायक रहे थे।

वर्तमान में कैराना से ही भाजपा सांसद थे। सबसे बड़ी बात यह है कि प्रदेश में एनडी तिवारी, राजनाथ सिंह, कल्याण सिंह व मायावती की सरकारों में मंत्री रहे थे। वर्तमान में सांसद बनने के बाद लोकसभा स्पीकर की संसदीय समिति में सदस्य के साथ ही भारत सरकार के जल बोर्ड समिति के अध्यक्ष भी थे। इसके अलावा ग्रेनो में गुर्जर शोध संस्कृति संस्थान को बनवाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही है। उनके निधन से क्षेत्र के लोगों में शोक है।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप