कालका (पंचकूला), जेएनएन। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने यहां भारत द्वारा सर्जिकल स्‍ट्राइक को लेकर सवाल उठाने वालों पर करारा जवाब दिया। उन्‍होंने कहा, पाकिस्‍तान ने भी कुछ दिन माना है कि भारत ने बालाकोट में बड़ा सर्जिकल स्‍ट्राइक किया था और उसे सबक सिखाया। कुछ दिन पहले पाकिस्तान के प्रधान मंत्री ने भी कहा कि भारत बालाकोट से बड़ा कदम उठाने की योजना बना रहा है। इसका मतलब है कि पाकिस्तान पीएम ने स्वीकार किया कि भारत ने बालाकोट में क्या किया। पड़ोसी देश बेहद डरा हुआ है अब पाकिस्‍तान से सिर्फ गुलाम कश्‍मीर बात होगी।

पाकिस्‍तान आतंकवाद का समर्थन बंद करे तभी होगी बातचीत और वह भी सिर्फ गुलाम कश्‍मीर पर

राजनाथ सिंह ने कहा कि पाकिस्‍तान को अब भी ऐसी कार्रवाई का डर है और इससे पता चलता है कि इस स्‍ट्राइक से उसे कैसा सबक सिखाया गया था। उन्‍होंने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर के विकास के लिए वहां अनुच्‍छेद 370 को समाप्त किया गया है। इस पर पाकिस्‍तान बेवजह तिलमिलाया हुआ है। वह पड़ोसी दूसरे देशों के दरवाजे खटखटा रहा है, लेकिन पूरे विश्‍व में उसे कहीं भी समर्थन नहीं मिल रहा। किसी ने भी नहीं कहा कि भारत ने  गलती की है। उन्‍होंने कहा कि अब पाकिस्‍तान से तभी बातचीत हो सकती है जब वह आतंकवाद का समर्थन करना बंद कर देगा। अब अब पाकिस्‍तान से बातचीत होगी तो सिर्फ गुलाम कश्‍मीर पर होगी।

राजनाथ सिंह ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना 56 इंच का सीना सभी को दिखा दिया है। अब हमारा पड़ोसी देश पाकिस्तान बौखला चुका है और वह आंतकवाद से भारत को डराने की कोशिश कर रहा है। पिछले दिनों अपने भाषण में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने माना था कि बालाकोट में भारतीय सेना ने हमला किया है और अब वह इससे भी बड़े हमले की तैयारी कर रहा है, जिससे साफ है कि भारत की शक्ति का एहसास पाकिस्तान को हो चुका है। राजनाथ सिंह ने कहा कि अनुच्‍छेद 370 और 35ए हटाने के बाद अब भारत एवं संविधान, एक निशान एक हो चुका है। चुटकी बजाते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धारा 370 हटा दी।

उन्‍होंने कहा, लोग कहते थे कि इससे भारत बंट जाएगा, बीजेपी की सरकार नहीं बनेगी, परंतु ऐसा कुछ नहीं हुआ। भाजपा केवल सत्ता का सुख भोगने के लिए कुछ नहीं करती। कश्मीर में हालात बिलकुल सामान्य है। राजनाथ सिंह ने कहा कि अब बात पाकिस्तान से केवल उसके अधिकृत कश्मीर पर ही होगी। अंत में राजनाथ सिंह ने मनोहर लाल खट्टर को स्टेज के आगे बुलाकर लोगों से आशीर्वाद देने के लिए कहा, मनोहर लाल ने हाथ जोड़कर सभी से आशीर्वाद मांगा और लोगों ने हाथ हिलाकर उन्हें आशीर्वाद दिया।

राजनाथ सिंह ने मनोहर लाल की तारीफों के जमकर पुल बांधे। उन्‍होंने कहा, मैं भी उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री रह चुका हूं और कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों की कार्यशैली देख चुका हूं, मुझे यह कहने में कोई संकोच नहीं होगा कि मनोहर लाल ने मुझसे भी बेहतर काम किया है। राजनाथ ने कहा, मैं दिल से मनोहर लाल की तारीफ करता हूं। पहले केवल भ्रष्टाचार के चलते देश में हरियाणा की चर्चा होती थी, लेकिन मनोहर सरकार बनने के बाद यहां पर विकासात्मक कार्यों के लिए देशभर में हरियाणा की चर्चा होती है। हजारों करोड़ रुपये का विदेशी निवेश हरियाणा में हुआ है।

CM मनोहरलाल की जन आशीर्वाद यात्रा का रैली से आगाज, राजनाथ सिंह भी पहुंचे

वह यहां हरियाणा के मुुख्‍यमंत्री द्वारा जन आशीर्वाद यात्रा शुरू करने के मौके पर  कालका मंडी में आयोजित रैली को संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह भी मौजूद थे। यात्रा के लिए रैली में पहुंचने से पहले मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल ने माता काली मंदिर में पूजा-अर्चना की और गुरुद्वारा साहिब में माथा टेका।

मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने कहा कि पिछली सरकारों का ऐम और गेम केवल अपने परिवारों तक सीमित था, हमारा ऐम और गेम भी परिवार तक है, लेकिन हमारा परिवार हमारे बेटे बेटियां नहीं, बल्कि हरियाणा की ढाई करोड़ जनता है। जिनके विकास और उत्थान के लिए प्रदेश सरकार लगातार काम कर रही है। पिछले पांच साल में जो घोषणाएं हमारी सरकार द्वारा की गई थी, उससे कहीं आगे बढ़कर सरकार द्वारा काम किए गए हैं। हर पांच साल बाद लाइसेंस रिन्यू करवाना पड़ता है, इसलिए अब फिर से हम जनता के पास जाकर अपना लाइसेंस रिन्यू करने के लिए अपील करेंगे। लोगों के सामने अपना रिपोर्ट कार्ड पेश करेंगे। साथ ही आने वाले 5 साल की योजनाओं का लेखा-जोखा भी जनता के समक्ष रखेंगे। मनोहर लाल ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा।

बारिश के बावजूद रैली में सुबह से ही लोग पहुंच रहे थे। रैली स्‍थल पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का मुख्‍यमंत्री मनाेहरलाल और प्रदेश भाजपा अध्‍यक्ष सुभाष बराला सहित अन्‍य नेताओं ने स्‍वागत किया। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रैली में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह को स्मृति चिन्ह देकर सम्‍मानित किया।

90 विधानसभा हलकों में आशीर्वाद लेने के लिए मनोहर रथ रवाना
बाद में मनोहर लाल जन आशीर्वाद यात्रा पर निकल पड़े। मनोहर लाल 8 सितंबर तक हरियाणा के सभी 90 विधानसभा हलकों का दौरा करेंगे। इस दौरान मनोहर लाल 5 साल का लेखा जोखा लोगों के समक्ष रखेंगे। रविवार को कालका विधानसभा हलके से इस जन आशीर्वाद यात्रा को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने झंडी दिखाकर रवाना किया। सीएम मनोहर लाल ने जनसभा में आने से पहले काली माता मंदिर और गुरुद्वारे में माथा टेका। इसके बाद सीएम जन सभा स्थल पर पहुंचे। सीएम के कुछ देर बाद केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह जनसभा स्थल पर आए, जिनका लोगों ने भारत माता की जय के नारे लगाकर स्वागत किया। मनोहर लाल खट्टर और राजनाथ सिंह ने लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन स्वीकार किया।

रैली में हरियाणा भाजपा के अध्‍यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि राज्‍य के विधानसभा चुनाव में पार्टी 75 से अधिक सीटें जीतेगी। उन्‍होंने नेताओं और कार्यकर्ताओं ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और हरियाणा की मनोहरलाल सरकार के कार्यों व उपलब्धियों से जन-जन को अवगत कराने में जुटने को कहा। उन्‍होंने लोगों से मुख्‍यमंत्री मनोहरलाल की जन आशीर्वाद यात्रा के लिए सहयोग मांगा।

इस अवसर पर हरियाणा के चुनाव प्रभारी नरेंद्र सिंह तोमर, हरियाणा मामलों के प्रभारी डॉ अनिल जैन, प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला, हरियाणा के मंत्री ओम प्रकाश धनखड़, रामविलास शर्मा, विपुल गोयल, मनीष ग्रोवर, केंद्रीय राज्य मंत्री रतनलाल कटारिया, रोहतक के सांसद अरविंद शर्मा, सांसद सुनीता दुग्गल, सांसद संजय भाटियाा, कालका की विधायक लतिका शर्मा, पंचकूला के विधायक ज्ञानचंंद गुप्ता सहित हरियाणा के कई बड़े नेता मौजूद थे।

मिशन 75 प्‍लस के लिए सीएम लेंगे जन 'आशीर्वाद'

विधानसभा चुनाव में मिशन 75 प्लस का लक्ष्य लेकर चल रहे मुख्यमंत्री मनोहर लाल पूरे 22 दिन रथ पर सवार होकर प्रदेश के सभी 90 हलके नापेंगे। इस दौरान मंत्रियों से लेकर भाजपा सांसद-विधायकों और पार्टी संगठन के पदाधिकारियों का लाव-लश्कर उनके साथ होगा।

सुभाष बराला ने कहा कि यह यात्रा 'प्रदेश में फिर एक बार भाजपा सरकार और लक्ष्य 75 पार' को हासिल करने में मील का पत्थर साबित होगी। तीन-तीन दिन के पांच चरणों के बाद रोहतक में 8 सितंबर को यात्रा का समापन होगा, जिसमें मुख्यमंत्री मनोहर लाल प्रदेश में हुए विकास और बदलाव के बूते 'म्हारे सपनों का हरियाणा' बनाने के लिए जनसमर्थन जुटाएंगे।

मुख्यमंत्री की रथ यात्रा को पूरी तरह सफल बनाने के लिए प्रत्येक दिन अलग-अलग कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी दी गई है। जन आशीर्वाद यात्रा कुल 2100 किलोमीटर की दूरी तय करेगी। प्रत्येक चरण में 400 से 500 किलोमीटर की यात्रा की जाएगी। रोजाना 150 किलोमीटर के सफर में हर दिन औसतन 40 कार्यक्रम होंगे।
------------------------
युवा-किसानों और महिलाओं पर फोकस
जन आशीर्वाद यात्रा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल अलग-अलग कार्यक्रमों के जरिये युवाओं, किसानों और महिलाओं से सीधे रू-ब-रू होंगे। यात्रा में मुख्यमंत्री के साथ पूरा काफिला चलेगा। इस दौरान आमजन को कोई परेशानी न आए, इसका खयाल रखते हुए भी कार्यकर्ताओं की जिम्मेवारी लगाई है। यात्रा का मिनट टू मिनट कार्यक्रम तैयार किया गया है। जन आशीर्वाद यात्रा का समापन  रोहतक में होगा जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी शंखनाद करेंगे। रैली की जिम्मेदारी सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर एवं प्रदेश महामंत्री एडवोकेट वेदपाल को दी गई है।
-----------------------
जन आशीर्वाद रथ यात्रा का रूट
18 अगस्त : पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर
19 अगस्त : यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, अंबाला
20 अगस्त : कुरुक्षेत्र, कैथल, करनाल
22 अगस्त : करनाल, जींद, पानीपत
23 अगस्त : पानीपत, सोनीपत
25 अगस्त : सोनीपत, रोहतक, झज्जर
27 अगस्त : झज्जर, रेवाड़ी व गुरुग्राम
28 अगस्त : फरीदाबाद, पलवल
29 अगस्त : पलवल, नूंह व गुरुग्राम
31 अगस्त : रेवाड़ी व महेंद्रगढ़
1 सितंबर : महेंद्रगढ़, भिवानी, चरखी दादरी, रोहतक
2 सितंबर : रोहतक, भिवानी, हिसार
4 सितंबर : हिसार व जींद
5 सितंबर : कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद
6 सितंबर : सिरसा
8 सितंबर : रोहतक।


 

Posted By: Sunil Kumar Jha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप