झांसी, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि डॉक्टरों को मरीज के प्रति संवेनशील होना चाहिए। डॉक्टर अगर मरीजों से प्यार से पेश आएं तो उनकी आधी बीमारी अपने आप ही दूर हो जाती है। मरीज जिस पृष्ठ भूमि से आया है और उसे जिस जगह इलाज कराना है, दोनों के बीच बहुत बड़ा अंतर है। उस अंतर को भरने में डॉक्टर सबसे बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। जब डॉक्टर मरीज के प्रति अच्छा व्यवहार नहीं करते और उसके परिजनों के साथ मारपीट करते हैं, तो वह क्षुब्ध होता है। इससे पूरा का पूरा मेडिकल पेशा बदनाम होता है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को झांसी के महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज के सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का उद्घाटन किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि आजादी के बाद 70 वर्षों में उत्तर प्रदेश में केवल 12 राजकीय मेडिकल कॉलेज बने थे। हमारी सरकार पांच वर्ष में 29 नए मेडिकल कॉलेज बनाने जा रही है। सरकार के कार्य की गति सिर्फ इसी क्षेत्र में ही नहीं, अन्य क्षेत्रों में भी है। प्रदेश के अंदर स्वास्थ्य सेवाओं की बेहतरी के लिए हमने कई ठोस कदम उठाए हैं। दो एम्स रायबरेली और गोरखपुर में शुरू हो चुके हैं। इसके साथ ही 6 सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक अन्य मेडिकल कॉलेजों में आ रहे हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि यह वही प्रदेश है, जहां योजनाओं का नाम समाजवाद के नाम पर रखकर परिवारवाद और जातिवाद को बढ़ावा दिया जाता था। उन्होंने कहा कि योजनाओं का आधार कॉमन मैन यानी गांव, गरीब, नौजवान और समाज का प्रत्येक तबका होना चाहिए। एक गरीब की कोई जाति नहीं होती है। हमने गरीब को वोट बैंक नहीं माना। भारत के संसाधनों और शासन की योजनाओं पर गरीबों का बराबर का अधिकार है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बहुत सी संभावनाएं हैं। यहां की 23 करोड़ की आबादी को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के साथ ही प्रदेश को मेडिकल टूरिज्म के क्षेत्र में बढ़ावा देने की आवश्यकता है। बुंदेलखंड में हर प्रकार के टूरिज्म की संभावनाएं हैं। टूरिज्म रोजगार का एक सशक्त माध्यम है, जो अर्थव्यवस्था को एक नई ऊंचाई तक पहुंचाने में बड़ी मदद कर सकता है।

आरोग्य मेला का आयोजन करें डॉक्टर

मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां के जूनियर एवं सीनियर डॉक्टर्स को जिला प्रशासन के साथ मिलकर सप्ताह में एक दिन झांसी और ललितपुर के सीएचसी एवं पीएचसी में आरोग्य मेला का आयोजन करना चाहिए। हर सप्ताह चार डॉक्टर एक टीम बनाकर सीएचसी और पीएचसी में जाएंगे तो एक नया परिवर्तन देखने को मिलेगा।

बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे बनेगा आर्थिक विकास का बैकबोन

योगी ने कहा कि बुंदेलखंड आने वाले समय में विकास के एक नए प्रतिमान को छूने के लिए उत्सुक दिखाई दे रहा है। मुख्यमंत्री बनने के बाद जब अपने पहले दौरे पर बुंदेलखंड आया था तो मैंने कहा था कि स्वास्थ्य की सुविधाओं के साथ ही यहां के आर्थिक विकास को ध्यान में रखना है। बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे यहां के आर्थिक विकास का बैकबोन बनेगा। डिफेंस इंडस्ट्रियल कॉरिडोर इसी एक्सप्रेस-वे के दोनों तरफ विकसित किया जा रहा है, जिससे यहां के लाखों लोगों को नौकरी एवं रोजगार प्राप्त होगा। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन, चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश कुमार खन्ना मौजूद थे। 

कोई भी ठंड के कारण ठिठुरने न पाए

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने झांसी में शनिवार देर रात रैन बसेरा का निरीक्षण किया और लोगों को कंबल वितरित किए। इस दौरान उन्होंने वहां ठहरने वाले लोगों के हालचाल लेने के साथ रैन बसेरा की व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया। सीएम ने रैन बसेरा में ठहरे बच्चों से भी उनके हालचाल पूछे और उन्हें दुलार किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कोई भी ठंड के कारण ठिठुरने नहीं पाए। इसके बाद मुख्यमंत्री ने जेल चौराहा स्थित निर्माणाधीन पुलिस हॉस्टल का भी निरीक्षण किया। इस दौरान पुलिस अधीक्षक (देहात) राहुल मिठास ने मुख्यमंत्री को बताया कि बन रही बिल्डिंग लगभग तैयार है जो थोड़ा बहुत काम बचा है वह जल्द ही पूरा करके इसी माह यह हैंडओवर कर दी जायेगी, इसमें 200 पुलिस कर्मियों के रहने की व्यवस्था है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस