लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पुलिस की वर्दी का हमेशा एक ही धर्म होता है, वह है आम जनता की सुरक्षा। इसलिए पुलिस की वर्दी पहनने वाले सभी कर्मियों को अपनी वर्दी का पूरा सम्मान करना चाहिए। पुलिस को जनता की समस्याओं का समाधान करने के लिए न्यायोचित कार्य करने चाहिये। हमने पुलिस बल के आधुनिकीकरण व सशक्तीकरण के लिए बजट में वृद्धि की है। हमारा प्रयास है कि आने वाले समय में उत्तर प्रदेश पुलिस की अपनी एक अकादमी हो, जिससे वह हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम बने। हमें न्याय की प्रक्रिया को समयबद्ध करना होगा।

मौका था, सोमवार को नए पुलिस मुख्यालय के उद्घाटन का। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रोच्चार और शंखनाद के बीच नारियल फोड़ा। इससे पहले सीएम योगी ने परिसर में पीपल कापौधा रोपित किया।  

इस दौरान सीएम ने कहा कि विगत ढाई वर्ष के दौरान पुलिस बल के साथ जुडऩे और उनकी कार्य पद्धति को बहुत नजदीक से देखने का अवसर मिला है। आज के समय में सुरक्षा का वातावरण जो बना है, उसका ही परिणाम है कि प्रदेश में एक लाख करोड़ रुपए के निवेश प्रस्ताव को जमीन पर उतारने में कामयाब हुए हैं। आज रूस के उद्यमी भी यूपी में प्रवेश करने के इच्छुक हैं।

सुरक्षा का वातावरण ही चौमुखी विकास के लिए संभव है। आज इस दिशा में प्रदेश सरकार ने एक और सशक्त कदम उठाया है। कुंभ के दौरान प्रदेश सरकार ने बेहतर सुरक्षा, उत्तम स्वच्छता व बेहतरीन यातयात सुविधाओं का नया उदाहरण पेश किया। एक सप्ताह के अंदर प्रदेश को दो नये पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय प्राप्त हुए हैं, जो एक बड़ी उपलब्धि है। इन दो नये पुलिस प्रशिक्षण विद्यालयों को मिलाकर वर्तमान में प्रदेश में 11 पुलिस विद्यालय हो चुके हैं।

प्रभावी बनाने को दिया जा रहा प्रशिक्षण
सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में कानून का राज स्थापित करने के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा पुलिस बल का सुदृढ़ीकरण और आधुनिकीकरण किया जा रहा है। पुलिसकर्मियों का मनोबल बढ़ाने के लिए पुलिस विभाग में अधिक से अधिक पदोन्नतियां की जा रही हैं। साथ ही, पुलिस बल को और प्रभावी बनाने के उद्देश्य से पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इससे पुलिस कानून-व्यवस्था प्रभावी ढंग से लागू कर सकेगी एवं सुरक्षा की चौकस व्यवस्था भी सुनिश्चित कर सकेगी। सीएम ने कहा कि आज अपराध के तरीकों में बहुत बदलाव आया है। इसलिए पुलिस को सतर्क रहते हुए अपने दायित्वों का निर्वहन करना होगा।

 

आधुनिकीकरण के दृष्टिगत हर मंडल में होगी फोरेन्सिक लैब्स स्थापित 
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रयागराज कुंभ-2019, 15वें प्रवासीय भारतीय दिवस एवं लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 को सफलतापूर्वक सम्पन्न किये जाने में पुलिस तथा प्रशासनिक अधिकारियों ने कड़ी मेहनत की, जिसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। उन्होंने प्रदेश में पुलिस भर्ती के लिए अपनाई गई पारदर्शी प्रक्रिया की सराहना की। उन्होंने कहा कि प्रदेश पुलिस के आधुनिकीकरण के दृष्टिगत हर मंडल में फोरेन्सिक लैब्स स्थापित की जायेंंगी राज्य सरकार द्वारा ड्यूटी के दौरान शहीद होने पर पुलिसकर्मियों के आश्रितों को उनके सेवाकाल तक वेतन के बराबर पेंशन दी जाने की व्यवस्था की गई है।

पीपल का पौधा किया रोपित 
इस अवसर पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस प्रशिक्षण विद्यालय परिसर में पीपल का पौधा भी रोपित किया गया। साथ ही, उन्होंने वीडियो क्लिप के माध्यम से जनपद के विकास एवं दार्शनिक स्थलों का अवलोकन भी किया।

स्मृति चिन्ह किया भेंट 
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने पुलिस विभाग के कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री को पुलिस विभाग की ओर से स्मृति चिन्ह भी भेंट किया गया। इस अवसर पर उच्च शिक्षा तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री तथा जनपद जालौन की प्रभारी मंत्री नीलिमा कटियार, अन्य जनप्रतिनिधिगण, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

800 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बना भवन

नए पुलिस मुख्यालय भवन को सिग्नेचर बिल्डिंग का नाम दिया गया है। यह भवन 800 करोड़ रुपये से ज्यादा की लागत से बना है। गोमतीनगर विस्तार में भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अंतरराष्ट्रीय इकाना क्रिकेट स्टेडियम के सामने बना है। भव्य सिग्नेचर बिल्डिंग के नौवें तल पर डीजीपी का दफ्तर है। डीजीपी ऑफिस से लगा गार्डन भी है जो बालकनी में बना है। यहां से पूरा गोमतीनगर विस्तार और गोमती नदी का शानदार नजारा दिखता है। पुलिस मुख्यालय का आकर्षण लोगों में खूब है।

18 इकाइयों के मुख्यालय और उनके मुखिया का भी दफ्तर

नए पुलिस मुख्यालय में डीजीपी के साथ ही उत्तर प्रदेश पुलिस की 18 इकाइयों के मुख्यालय और उनके मुखिया का भी दफ्तर रहेगा। जीआरपी, टेक्निकल सर्विसेज, अग्निशमन निदेशालय, यातायात निदेशालय, लाजिस्टिक प्रशिक्षण निदेशालय, भ्रष्टाचार निवारण संगठन, आर्थिक अपराध शाखा, एसआइटी, मानवाधिकार, रूल्स एंड मैनुएल्स के मुख्यालय भी इसी भवन में होंगे। 40178 वर्ग मीटर में फैले पुलिस मुख्यालय में अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं दी गई हैं। यहां पार्किंग के लिए दो हजार से अधिक वाहनों की भी व्यवस्था की गई है। 

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप