चंडीगढ़, [इंद्रप्रीत सिंह]। पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के इस्तीफे को लेकर मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह दुविधा में हैं। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने अब तक इस पर कोई फैसला किया है और संभावना जताई जा रही है कि वह आज शाम तक इस पर कोई फैसला लेंगे। मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने ने भी ऐसे ही संकेत दिए हैं। ऐसे में सिद्धू के इस्‍तीफे को लेकर चर्चाएं गर्म हैं।

बताया जा रहा है मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह पर तीन -चार मंत्रियों का दबाव है कि वह सिद्धू के इस्तीफे को स्वीकार करें। वहीं, कुछ ऐसे भी हैं, जो नहीं चाहते कि साफगोई से बात करने वाले सिद्धू को कैबिनेट से बाहर किया जाए। सिद्धू के हक में सोशल मीडिया पर भी यह हवा बन रही है कि उनकी साफ-साफ बात करने की आदत के कारण ही उन्हें निशाने पर लिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: अभी करना होगा इस अनोखी रेलयात्रा का इंतजार, 40 वंदे भारत ट्रेनों पर लगा ब्रेक, उठे बड़े सवाल

 कई मंत्रियों का कहना है कि सिद्धू अपने ही सरकार को सार्वजनिक रूप से निशाने पर लेते रहते हैं। जब कभी उन पर बात आती है, तो वह कहते हैं कि यह सामूहिक जिम्मेदारी है। ऐसे में जो फैसले कैबिनेट लेती है, वह भी तो सामूहिक जिम्मेदारी है। सिद्धू उससे अपने आप को अलग कैसे रख सकते हैं? सिद्धू कैबिनेट में तीसरे नंबर के सबसे सीनियर मंत्री हैं और अपनी ही सरकार के खिलाफ सार्वजनिक मंच से बयानबाजी करते हुए उन्हें सोचना चाहिए।

यह भी पढ़ें: अधर में सिद्धू का सियासी करियर, कांग्रेस छोड़ना आसान नहीं; जानें क्‍या है गुरु के पास विकल्‍प

इसलिए नहीं हो सका फैसला

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दिल्ली में मीडिया से बात करते हुए कहा था कि वह चंडीगढ़ जाकर सिद्धू के इस्तीफे को देखेंगे और उसके बाद ही उसे स्वीकार करने या न करने संबंधी कोई फैसला लिया जाएगा। लेकिन, बुधवार देर शाम तक मुख्यमंत्री के दिल्ली से लौटने के चलते सिद्धू के इस्तीफे के बारे में कोई फैसला नहीं हो सका। वैसे मुख्यमंत्री ने पिछले दो तीन दिनों में सिद्धू को लेकर जो बयान दिए हैं, उससे भी लगता है कि कहीं न कहीं कैप्टन अमरिंदर सिंह सिद्धू के इस्तीफे को स्वीकार करने या न करने को लेकर दुविधा में हैं।

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!