लखनऊ, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में लखनऊ सहित प्रदेश के अन्य शहरों में हिंसा के दौरान तोडफ़ोड़ तथा अन्य नुकसान की भरपाई को लेकर प्रदेश सरकार बेहद गंभीर है। नुकसान पहुंचाने के आरोपितों पर सरकार का शिकंजा कसते ही विपक्ष सक्रिय हो गया है। लखनऊ तथा अन्य शहरों में हिंसा करने वालों के फोटो होर्डिंग्स पर लगने के बाद पहले समाजवादी पार्टी और अब कांग्रेस से सरकार को कठघरे में खड़ा किया है।

समाजवादी पार्टी ने लखनऊ के मुख्य मार्गों पर भारतीय जनता पार्टी से जुड़े रहे नेताओं के फोटो होर्डिंग्स पर लगाकर सरकार पर हमला बोला था। सरकार ने उन सभी होर्डिंग्स को हटवा दिया था। शनिवार को कांग्रेस ने शहर के मुख्य मार्गों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तथा उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के साथ भाजपा के अन्य नेताओं की फोटो वाले पोस्टर्स और होर्डिंग्स शहर के मुख्य मार्गों पर लगवाए हैं।

कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी से एक कदम आगे बढ़कर सीएम योगी आदित्यनाथ तथा डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ पोस्टर्स तथा होर्डिंग्स लगवाए हैं।

यह पोस्टर्स तथा होर्डिंग्स कांग्रेस के युवा नेता सुधांशु बाजपेयी व लल्लू कनौजिया ने लगवाए हैं। इसमें भी इन लोगों बड़ी भूल की है। इन सभी ने भाजपा विधायक डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल के स्थान पर केंद्रीय मंत्री कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह की फोटो को लगा दिया है।  

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस