लखनऊ, जेएनएन। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में दिल्ली में हुई हिंसा से बेहद दुखी है। बसपा की सुप्रीमो मायावती ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को वहां के हालात शीघ्र सामान्य करने की सलाह दी है।

लोकसभा चुनाव 2019 के बाद से ही सोशल मीडिया पर बेहद सक्रिया बसपा की मुखिया मायावती ने केजरीवाल को नेक सलाह दी है। मायावती ने कहा है कि आम आदमी पार्टी के संयोजक तथा दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल फिलहाल तो दिल्ली के अलावा अन्य राज्यों में पार्टी के विस्तार के बारे में विचार करना छोड़कर दिल्ली पर ध्यान दें। उनको अब तो दूसरे राज्यों की बजाए दिल्ली के हालात सामान्य करने पर ध्यान देना चाहिए। दिल्ली सीएम को भी दूसरे राज्यों में राजनीति करने की बजाए दिल्ली में स्थिति सामान्य करने के लिए अपनी बड़ी भूमिका निभानी चाहिए।

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने दिल्ली में हो रही हिंसा को लेकर केंद्र सरकार के साथ दिल्ली सरकार पर निशाना साधा है। इसी बीच उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी सुझाव दिया है. बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि दिल्ली में आज हम जो देख रहे हैं, वह तो लंबे समय के बाद 1984 के दंगों की पुनरावृत्ति है। हमें तुच्छ राजनीति से ऊपर उठने की जरूरत है। अब तो केंद्र को दंगा करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। दिल्ली हिंसा की सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जांच की जानी चाहिए। मायावती ने कहा कि दिल्ली में राजनीतिक दल गंदी राजनीति कर रहे हैं। केंद्र को बिना किसी हस्तक्षेप के पुलिस और सिस्टम को स्वतंत्र ढंग से कार्य करने देना चाहिए।  

बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को ट्वीट कर लिखा कि दिल्ली के कुछ क्षेत्र में पिछले कुछ दिनों की हिंसा, उपद्रव और आगजनी की घटनाओं में भारी जान-माल की क्षति अति-दुखद और अति-निंदनीय है। केंद्र और दिल्ली सरकार को इसे पूरी गंभीरता से लेना चाहिए। बीएसपी की मांग है कि हिंसा की उच्चस्तरीय जांच कराकर सभी लापरवाह और दोषी लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए।

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस