गोरखपुर, जेएनएन। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर हो रहे विरोध-प्रदर्शन पर स्थानीय पुलिस-प्रशासन सतर्क हो गया है। कोतवाली में बैठक कर पुलिस व प्रशासनिक अफसरों ने माहौल खराब करने वालों को चिन्हित करने का निर्देश दिया। शहर में 166 लोगों को रेड कार्ड दिया गया। साथ ही 157 ऐसे लोगों की सूची पुलिस ने तैयार की है जिनसे शांति व्यवस्था को खतरा हो सकता है। ऐसे लोगों को शांतिभंग की आशंका में पाबंद किया जाएगा। चिन्हित किए गए लोगों की पुलिस व एलआइयू (लोकल इंटेलीजेंस यूनिट) निगरानी कर रही है।

अपर जिलाधिकारी (नगर) आरके श्रीवास्तव ने बताया कि शांति-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं। लोगों से अपील की जा रही है कि नागरिकता संशोधन विधेयक जनता के हित में है। यह कानून यहां के निवासियों को प्रभावित नहीं करता है। इसलिए जनता अफवाहों पर ध्यान न दे और शांति-व्यवस्था को बनाए रखने में जिला प्रशासन को अपना सहयोग प्रदान करे। सीओ कोतवाली वीपी सिंह ने बताया कि पुलिस सतर्क है। संवेदनशील इलाकों में गश्त बढ़ा दी गई है।

लंबे समय से होटल में रुके लोगों पर पुलिस की नजर

जिले में अलर्ट जारी होने के बाद पुलिस जगह-जगह सघन चेकिंग कर रही है। मंगलवार को होटल, ढाबों, सिनेमाहाल और रेलवे के आसपास खासतौर से चेकिंग की गई। होटल में लंबे समय रुके बाहरी लोगों पर पुलिस की विशेष नजर है। होटल संचालकों से ऐसे लोगों की सूचना मांगी गई है। एसएसपी डॉ. सुनील गुप्ता के निर्देश पर शहर क्षेत्र में एसपी सिटी और ग्रामीण क्षेत्र में एसपी नार्थ व एसपी साउथ की देखरेख में चेकिंग अभियान चल रहा है। मंगलवार को कैंट पुलिस ने स्टेशन रोड के होटलों की विशेष तौर से चेकिंग की गई। रेलवे व कचहरी बस स्टेशनों पर यात्रियों के सामान भी चेक किए गए। रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ और जीआरपी ने संयुक्त रूप से चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान संदिग्ध नजर आने वाले कुछ लोगों से पूछताछ भी की गई। यात्रियों के सामानों को चेक किया गया। एलआइयू होटल में ठहरे बाहरी लोगों के बारे में जानकारी जुटा रही है। लंबे समय से रुके लोगों से शहर में आने की वजह पूछी जाएगी। एसएसपी डॉ. सुनील गुप्ता ने बताया कि एहतियात के तौर पर पूरे जिले में चेकिंग हो रही है। थाना व चौकी प्रभारियों को अपने क्षेत्र के बाजार में फोर्स के साथ पैदल गश्त करने का निर्देश दिया है।

मस्जिद के बाहर प्रदर्शन, फोर्स पहुंचने पर भागे

चौरहिया गोला मस्जिद के बाहर जुटी भीड़ ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में प्रदर्शन किया। फोर्स के पहुंचने पर प्रदर्शनकारी भाग निकले। एहतियात के तौर पर कोतवाली, राजघाट और तिवारीपुर क्षेत्र में फोर्स की तैनाती बढ़ा दी गई है। दोपहर में एक इंटर कॉलेज में प्रदर्शन, जुलूस की अफवाह फैलने पर कोतवाली पुलिस हरकत में आ गई। कॉलेज पर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

शहर में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन की सूचना पर पुलिस सोमवार को ही अलर्ट मोड में आ गई थी। सीएए के विरोध की वजह से तरह-तरह की अफवाहें भी फैल रही हैं। मंगलवार की दोपहर में चौरहिया गोला मस्जिद के बाहर सैकड़ों की जुटी भीड़ ने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन शुरू कर दिया। मस्जिद के पास लगी पिकेट पर तैनात सिपाहियों के सूचना देने पर सीओ कोतवाली वीपी सिंह फोर्स के साथ पहुंच गए। जिसके बाद प्रदर्शनकारी भाग निकले। कुछ देर बाद एक इंटर कॉलेज में विरोध प्रदर्शन व जुलूस निकालने की सूचना फैली। प्रदर्शन का मामला सामने आने पर पुलिस ने प्रिंसिपल सहित अन्य जिम्मेदारों से बात कर कॉलेज बंद करा दिया।

अफवाह पर न दें ध्यान

जिले में सभी पुलिस कर्मचारियों की छुट्टियां निरस्त कर दी गई हैं। हर थाना, पुलिस चौकी पर तैनात पुलिस टीम को 24 घंटे किसी भी स्थिति से निपटने को कहा गया है। गोरखपुर पुलिस की तरफ से शांति बरतने की अपील की गई है। एसएसपी के पीआरओ सेल ने विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि झूठी अफवाहों पर ध्यान मत दीजिए। अफवाहें फैलाने वालों के बारे में पुलिस को सूचना दीजिए। शांति बनाए रखिए। विशेष निगरानी के लिए कुछ मोहल्लों को चिन्हित किया गया है।

एसपी सिटी ने की शांति कमेटी की बैठक

पुलिस थानों में शांति समिति, नागरिक सुरक्षा कोर, पुलिस मित्र व संभ्रात लोगों के साथ बैठक कर रही है। ताकि कहीं पर अफवाह ना फैले और हालात सामान्य रहे। एसपी सिटी डॉ. कौस्तुभ ने मंगलवार की शाम कोतवाली थाने में मुस्लिम समाज के लोगों के बैठक की। 

युवक को हिरासत में लिया, पूछताछ के बाद छोड़ा

कॉलेज में प्रदर्शन की सूचना पर पहुंची पुलिस ने गेट के पास घूमते मिले एक बाहरी युवक को पकड़ लिया। कॉलेज में आने की वजह न बता पाने पर कोतवाली पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। शाम को पुलिस ने चेतावनी देकर युवक को थाने से छोड़ा।

आपत्तिजनक मैसेज को तुरंत करें डिलीट, फारवर्ड करने पर होगी कार्रवाई : डीएम

गोरखपुर के जिलाधिकारी के. विजयेंद्र पाण्डियन ने कहा है कि सोशल मीडिया पर किसी भी ग्रुप के जरिये आने वाले आपत्तिजनक मैसेज को तुरंत डिलीट किया जाए, अगर किसी ने उसे आगे फारवर्ड किया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। शांति-व्यवस्था बनाए रखने के लिए सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेट दो शिफ्ट में भ्रमण कर रहे हैं। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त मात्रा में फोर्स लगाई गई है। मंगलवार को वाट्सएप ग्रुप पर अफवाह फैलाने के आरोप में तीन छात्रों पर निरोधात्मक कार्रवाई की गई है। डीएम ने बताया कि बड़ी संख्या में संदेहास्पद लोगों को सर्विलांस पर लिया गया है। ऐसे लोगों की सूची तैयार कराई जा रही है। इन पर बड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि बुधवार को 11 बजे से पीस कमेटी की बैठक बुलाई गई है। जिसमें शांति-व्यवस्था के लिए उठाए जाने वाले जरूरी उपायों पर चर्चा होगी। कहा कि चीजों को तोड़-मरोड़कर पेश करने वालों से सख्ती से निपटा कजाएगा। जनता से अपील है कि वह किसी भी तरह के अफवाहों पर ध्यान न दें, अगर कोई अफवाह फैलाता है तो उसकी सूचना जिला प्रशासन को तत्काल दें।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप