लखनऊ, जेएनएन। राजस्थान में कांग्रेस की आंतरिक उठापटक पर तंज करते हुए बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने कहा कि सरकार भले ही बच गई हो, लेकिन आगे न जाने कब पायलट और गहलोत का ड्रामा शुरू हो जाए। उन्होंने राजनीतिक अस्थिरता से कोरोना वायरस के संकट में राजस्थान की जनता को राहत दिलाने के लिए राज्यपाल से संवैधानिक दायित्व निभाने की मांग की।

बसपा प्रमुख मायावती ने मंगलवार को जारी बयान में राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि वह बीएसपी के साथ दूसरी बार दगाबाजी करने के मामले को आसानी से नहीं छोड़ेंगी। बसपा के विधायकों को जिस प्रकार कांग्रेस में शामिल कराया है। इस मामले को सुप्रीम कोर्ट तक ले जाएंगे। 

बता दें कि राजस्थान कांग्रेस में चल रहा सियासी घमासान फिलहाल थम गया है। महीनेभर से बगावती तेवर अपनाए बैठे सचिन पायलट अब हठ छोड़ कांग्रेस की राह चलने को तैयार हैं। राजस्थान विधानसभा सत्र से ठीक पहले हुए राजनीतिक घटनाक्रम में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी ने सोमवार को पायलट को बुलाकर सीधी बातचीत की। इसमें पायलट ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खिलाफ शिकायतों का पिटारा खोला तो हाईकमान ने समाधान निकालने का भरोसा दिया। इस पर पायलट ने कांग्रेस के साथ अपनी सियासी पारी जारी रखने की प्रतिबद्धता भी जताई।

कोरोना महामारी पर चिंता जतायी : बसपा प्रमुख मायावती ने कोरोना महामारी लगातार बढ़ने पर चिंता जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पूरे देश में एक कोरोना नीति बनाकर उसे सख्ती से लागू करने की मांग की।

बाढ़ पीड़ितों की मदद करे सरकार : बसपा प्रमुख मायावती ने देश के विभिन्न हिस्सों में आई बाढ़ से बिगड़े हालात पर चिंता जताई। पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार में कोरोना संकट के साथ बाढ़ के कहर से पीड़ित परिवारों की मदद की अपील की। उन्होंने कहा कि राज्यों के साथ केंद्र सरकार को भी बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए मुस्तैदी से आगे आना चाहिए। उन्होंने कोरोना पीड़ित पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना भी की।

परशुराम जयंती की छुट्टी घोषित करेंगे : बसपा प्रमुख मायावती ने भगवान परशुराम का मुद्दा फिर से उठाते हुए परशुराम जयंती पर अवकाश घोषित करने का अपना वादा पूरा करने की मांग भाजपा सरकार से की। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा भगवान परशुराम की भव्य प्रतिमा स्थापना करके छुट्टी घोषित करती है तो बसपा उसका पुरजोर स्वागत करेगी। वरना आगे सरकार बनने पर बसपा इन दोनों कार्यों को जरूर पूरा करेगी।

Posted By: Umesh Tiwari

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस