लखनऊ, जेएनएन। वैश्विक आर्थिक मंदी के बीच बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने नरेंद्र मोदी सरकार को ऐसे समय को बेहद गंभीरता से लेने की सलाह दी है। सोशल मीडिया पर बेहद सक्रिय रहने वाली मायावती ने इस बाबत एक ट्वीट भी किया है।

बसपा की अध्यक्ष मायावती ने कहा कि इस समय देश को तत्काल राहत देने के लिए दीर्घकालीन उपायों की जरूरत है। भीषण गरीबी, बेरोजगारी, महंगाई व कर्मचारियों की देश भर में हो रही छंटनी व तनाव-हिंसा आदि से घोर पीडि़त देश की करोड़ों मेहनतकश जनता को तत्काल राहत देने के लिए दीर्घकालीन उपायों के साथ-साथ तत्काल राहत व रोजगार देने वाले कदम उठाने की भी जरूरत है। केन्द्र इसे पूरी गंभीरता से ले।

मायावती ने कहा कि देश में भीषण गरीबी, बेरोजगारी, महंगाई, तनाव आदि से पीडि़त करोड़ों जनता को अब आर्थिक मंदी की मार के खतरे के सम्बंध में 18 अगस्त को बसपा की मांग को संज्ञान में लेकर केन्द्र ने कल कुछ जरूरी कदम उठाए हैं जो अच्छी बात है पर यह काफी नहीं। केन्द्र को इस मामले में अभी निश्चिन्त नहीं हो जाना चाहिए। 

अरुण जेटली के निधन की खबर अति-दुःखद

मायावती ने कहा कि पूर्व केन्द्रीय वित्त/रक्षा मंत्री व बीजेपी के प्रमुख नेता अरुण जेटली के निधन की खबर अति-दुःखद है। वे बीमार थे व उनका हालचाल लेने हाल ही में मैं एम्स गयी थी। नामी वकील व अच्छे इंसान थे। देश की राजनीति में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकेगा। उनके परिवार के प्रति गहरी संवेदना है।

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस