लखनऊ, जेएनएन। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने उत्तर प्रदेश में खराब कानून-व्यवस्था को लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोला है। मायावती ने उत्तर प्रदेश में दलितों पर हो रहे जानलेवा हमले को लेकर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को कठघरे में खड़ा किया है।

बसपा मुखिया मायावती ने शनिवार को स्वतंत्रता दिवस पर देश तथा प्रदेश को लोगों को शुभकामना देने के साथ ही उत्तर प्रदेश में आजमगढ़ और लखीमपुर खीरी में हुई हिंसक घटना को लेकर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोला है। मायावती सोशल मीडिया पर बेहद एक्टिव हैं और शनिवार को भी उन्होंने तीन ट्वीट किया है।

मायावती ने प्रदेश के लखीमपुर खीरी के पकरिया गांव में दलित नाबालिग के साथ दुष्कर्म के बाद फिर उसकी नृशंस हत्या को अति-दु:खद व शर्मनाक बताया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ऐसी घटनाओं से सपा व वर्तमान भाजपा सरकार में फिर क्या अन्तर रहा। सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के विरूद्ध भी सख्त कार्रवाई करे।

मायावती ने कहा कि आजमगढ़ के बांसगांव में दलित प्रधान सत्यमेव जयते पप्पू की स्वतंत्रता दिवस की पूर्वसंध्या में नृशंस हत्या व एक अन्य की कुचलकर मौत की खबर अति-दु:खद। यूपी में दलितों पर इस प्रकार की हो रही जुल्म-ज्यादती व हत्या आदि से पूर्व की समाजवादी पार्टी तथा भाजपा की सरकार कानून-व्यवस्था के मामले में एक जैसी हैं।

इससे पहले उन्होंने 74वें स्वतंत्रता दिवस पर समस्त प्रदेश तथा देशवासियों को हाॢदक बधाई व शुभकामनायें दीं। उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता अमूल्य है। इसकी सार्थकता सभी के लिए बनी रहे इसके लिए संवैधानिक मूल्यों को बनाये रखने का लोकतांत्रिक प्रयास जारी रखना है। कोरोनाकाल में इस दिवस को इसके पूरे पवित्र संकल्प के साथ मनाये तो बेहतर होगा।

गौरतलब है कि आजमगढ़ के तरवां थाना क्षेत्र के बांसगांव में शुक्रवार शाम हमलावरों ने ग्राम प्रधान सत्यमेव जयते उर्फ पप्पू (42) की घर से बुलाकर हत्या कर दी। मृत ग्राम प्रधान तीन भाइयों में सबसे छोटे थे। इस वारदात के बाद भड़के ग्रामीणों ने जमकर प्रदर्शन किया।

बांसगांव से लेकर बोंगरिया बाजार तक हुए बवाल के दौरान एक बालक की अज्ञात वाहन से कुचलकर मौत हो गई। इससे आक्रोशित भीड़ ने पुलिस चौकी के सामने खड़ी कई गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ग्राम प्रधान की हत्या व बच्चे की मौत पर शोक जताते हुए आश्रितों को अनुसूचित जाति व जनजाति एक्ट के तहत दी जाने वाली सहायता राशि के अलावा पांच-पांच लाख रुपये देने की घोषणा करने के साथ वहां के थानाध्यक्ष व चौकी इंचार्ज को तत्काल निलंबित करने व हत्यारोपितों के विरुद्ध गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई कर उनकी संपत्ति जब्त करते हुए एनएसए लगाने के निर्देश दिए हैं। मौके पर कई थानों की फोर्स तैनात की गई है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस