नई दिल्ली (संतोष कुमार सिंह)। नगर निगम और उसके बाद लोकसभा की सातों सीटें जीतने के बाद अब भाजपा का लक्ष्य दिल्ली विधानसभा चुनाव है। अगले वर्ष फरवरी में विधानसभा चुनाव होने हैं जिसे पार्टी हरहाल में जीतना चाहती है। यही कारण है कि पार्टी के नेता लोकसभा की जीत का जश्न मनाने के साथ ही 'मिशन 2020' की तैयारी में जुट गए हैं।

दिल्ली की सत्ता से भाजपा का 22 वर्षों का वनवास खत्म करने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी जहां वाल्मीकि व झुग्गी बस्तियों में प्रवास और रथ यात्रा के जरिये जनता से संवाद करेंगे।

वहीं, संगठन महामंत्री सिद्धार्थन प्रत्येक विधानसभा में प्रवास करके कार्यकर्ताओं को अगले चुनाव की तैयारी में लगने को प्रेरित करेंगे। दिल्ली की सत्ता से वर्ष 1998 में बेदखल हुई भाजपा वापसी की राह तलाश रही है। लगातार दो चुनावों में मिली बड़ी जीत से इसके कार्यकर्ताओं का मनोबल भी ऊंचा है, इसलिए पार्टी इस अवसर को हाथ से नहीं जाने देना चाहती है।

प्रदेश के बड़े नेताओं ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है। कांग्रेस व आम आदमी पार्टी का मजबूत वोट बैंक समझी जाने वाली झुग्गी व वाल्मीकि बस्तियों में भाजपा को इस लोकसभा चुनाव में बढ़त मिली है, इसे बरकरार रखने के लिए प्रदेश अध्यक्ष ने इन बस्तियों में रात्रि प्रवास का फैसला किया है। तिमारपुर में रात्रि प्रवास करके तिवारी ने इसकी शुरुआत भी कर दी है।

झुग्गियों में जनाधार बढ़ाने के साथ ही वह दिल्ली के सभी 14 संगठनात्मक जिलों व 70 विधानसभा क्षेत्रों में जाएंगे। उत्तर पश्चिमी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र के दोनों जिलों में वहां के सांसद हंसराज हंस के साथ शनिवार को अभिनंदन समारोह में शामिल हुए।

अब रविवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली जो कि उनका संसदीय क्षेत्र है में धन्यवाद यात्रा निकालेंगे। रविवार को ही हाईटेक रथ की भी शुरुआत होगी जिस पर सवार होकर वह पूरी दिल्ली में जनता के बीच जाएंगे। इसके जरिये दिल्ली सरकार की पोल भी खोली जाएगी। रथ में एक बड़ी स्क्रीन लगी हुई है जिसके जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से संबंधित वीडियो दिखाने के साथ ही दिल्ली की बदहाली की झलक भी लोगों को दिखाई जाएगी।

प्रदेश भाजपा के जनसंपर्क प्रमुख नीलकांत बख्शी का कहना है कि अरविंद केजरीवाल ने सुरक्षा खासकर महिलाओं की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाने व युवाओं को मुफ्त वाईफाई की सुविधा देने का वादा करके उनका समर्थन हासिल किया था। मुख्यमंत्री ने दोनों वादे पूरे नहीं किए।

भाजपा के रथ में इसकी याद दिलाने के लिए चार सीसीटीवी कैमरे लगाने के साथ ही वाईफाई की सुविधा भी दी गई है। वादाखिलाफी को बताने के लिए वाईफाई का पासवर्ड 0000 रखा गया है। दूसरी ओर कार्यकर्ताओं से संवाद कायम करके जमीनी स्तर पर संगठन को मजबूत करने की मुहिम में सिद्धार्थन जुट गए हैं।

लोकसभा चुनाव में भी पर्दे के पीछे रहकर इन्होंने कार्यकर्ताओं को एक सूत्र में बांधकर चुनाव प्रचार अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। अब वह मिशन 2020 को हासिल करने के लक्ष्य को लेकर कार्यकर्ताओं को एकजुट करने के लिए दिल्ली के सभी विधानसभा क्षेत्रों में प्रवास करेंगे। एक पखवाड़े के अंदर उनका यह कार्यक्रम पूरा हो जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस