लखनऊ, जेएनएन। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रामनगरी अयोध्या में पांच अगस्त को इतिहास रच दिया। वह लखनपुरी यानी लखनऊ से रामनगरी अयोध्या पहुंचे। रामलला के लिए खास तोहफे लाने वाले नरेंद्र मोदी देश के ऐसे पहले प्रधानमंत्री बने, जिन्होंने रामनगरी में हनुमानगढ़ी मंदिर के साथ ही रामलला का दर्शन किया।

अयोध्या में रामलला के मंदिर में दंडवत होने वाले पीएम नरेंद्र मोदी ने रामजन्मभूमि प्रांगण में भव्य राम मंदिर की आधारशिला रखने के बाद भूमि पूजन के दौरान निकली मिट्टी को अपने माथे पर भी लगाया। पीएम मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया। इससे पहले पीएम मोदी ने हनुमान गढ़ी में भगवान हनुमान और रामलला मंदिर प्रांगण में भगवान श्रीराम का दर्शन किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या में 28 वर्ष बाद पहुंचे। वह श्रीराम जन्मभूमि जाने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। यह देश में पहला मौका है, जब किसी प्रधानमंत्री ने अयोध्या की हनुमानगढ़ी का दर्शन किया है। इसके साथ देश की सांस्कृतिक धरोहर के संरक्षण के प्रतीक किसी मंदिर के शुभारंभ कार्यक्रम में शामिल होने वाले पहले प्रधानमंत्री के तौर पर भी नरेंद्र मोदी का नाम दर्ज हो गया। इन सभी का उन्होंने प्रण किया था और आज उन्होंने अपना संकल्प पूरा किया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 वर्ष पहले 1992 में पहली बार अयोध्या गए थे। उस समय वह भाजपा के तत्कालीन अध्यक्ष डॉ. मुरली मनोहर जोशी के नेतृत्व में निकली तिरंगा यात्रा में शामिल थे और डॉ. जोशी के सहयोगी के तौर पर भगवान राम की नगरी पहुंचे थे।

यह यात्रा कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने को लेकर भाजपा ने निकाली थी। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के एक वर्ष बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रामनगरी अयोध्या पहुंचे और श्रीराम मंदिर निर्माण का भूमि पूजन करने के साथ ही आधारशिला रखी। इस दौरान उन्होंने राम मंदिर पर यहां एक डाक टिकट भी जारी किया।

यह भी देखें: चांदी का कछुआ और सोने के शेषनाग, मंदिर की नींव में रखे गए ये पंच रत्न 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस