रंजन दवे, जोधपुर। राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भ्रष्टाचार पर प्रहार करते हुए कहा कि राजनीति में दो नंबर का पैसा लगता है। ऐसे में भ्रष्टचार कैसे कम हो सकता है, इस पर सभी को प्रयास करना चाहिए। वे जोधपुर में हाईकोर्ट के नए भवन के उद्घाटन के अवसर पर बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि जब तब दलों को दो नंबर का पैसा मिलता रहेगा भ्रष्टाचार खत्म नहीं होगा। उन्होनें राजनीति को दो नंबर का खेल तक बता दिया।

चंदे में लाए पारदर्शिता

गहलोत ने कहा कि आज बेहतरीन अवसर है, जब यहां देश के राष्‍ट्रपति, देश के मुख्य न्यायाधीश सहित सुप्रीम कोर्ट के बड़ी संख्या में न्यायाधीश सहित देश के कानून मंत्री यहां उपस्थित है। ऐसे में मेरा सभी से अनुरोध है कि राजनीतिक दलों को मिलने वाले चंदे में पारदर्शिता कैसे लाई जा सकती है इस पर विचार किया जाना चाहिये। गहलोत ने कहा कि वे 45 साल से राजनीति में है और अच्छी तरह से जानते है कि राजनीति की शुरुआत कैसे होती है। चुनाव की शुरुआत ही ब्लैकमनी से होती है। ऐसे में ब्लैक मनी लेकर चुनाव जीतने वालों से कैसे उम्मीद की जा सकती है कि वे देश से भ्रष्टाचार को समाप्त करेंगे। उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों से आग्रह किया कि वे इस मामले में स्वप्रेरणा से एक अपील कर उसकी सुनवाई करें। इस मौके पर गहलोत ने कहा कि हाईकोर्ट के नए भवन के समीप ही राज्य सरकार लोअर कोर्ट के लिए जमीन देने को तैयार है।

वकील हड़ताल करना छोड़ें

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि वकीलों में बहुत एकता है और उनकी इस एकता को सलाम है, लेकिन यह कहना चाहूंगा कि वे हड़ताल करना छोड़ दे। बार-बार हड़ताल करने से वकीलों की बदनामी होती है। अपनी एकता अवश्य प्रदर्शित करो, लेकिन तरीके से। ताकि वकीलों का काम भी हो जाए। जोधपुर में राजस्थान हाईकोर्ट के वकील एक बैंच जयपुर में स्थापित करने के विरोध में चालीस साल से माह के अंतिम कार्य दिवस को हड़ताल कर रहे है। उन्हें इस हड़ताल को समाप्त करने के बारे में सोचना चाहिये, और नया कदम उठाया जाना चाहिए ताकि आमजन को न्याय में देरी ना हो। 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस