लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि कभी-कभी आप प्रयोगों में सफल नहीं होते हैं, लेकिन आपको कमजोरियों के बारे में पता चलता है। बसपा प्रमुख मायावती जी के लिए मैंने पहली प्रेस कॉन्फ्रेंस में ही कहा था कि मेरे सम्मान जैसा ही उनका सम्मान होगा, मैं अब भी वही कहता हूं। जहां तक गठबंधन या अकेले चुनाव लड़ने की बात है, राजनीति में रास्ते सभी के लिए खुले हैं।

सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि यदि हम अकेले उपचुनाव लड़ रहे हैं तो मैं पार्टी के सभी नेताओं के साथ चर्चा करूंगा कि हमारी भावी रणनीति क्या होनी चाहिए और इसके लिए क्या करना चाहिए।

अखिलेश यादव ने कहा कि मायावती जी के लिए जो बात मैंने पहले दिन कही थी कि उनका सम्मान हमारा है आज भी अपनी वहीं बात कहता हूं अगर अब रास्ते खुले हैं तो आने वाले उप चुनावों में अपनी पार्टी कार्यकर्ताओं से बात करके आगे की रणनीति पर चर्चा करूंगा इंजीनियरिंग का छात्र रहा हूं प्रयोग किया था जरूरी नहीं की हर एक प्रयोग सफल हो।

उन्होंने कहा कि गाजीपुर में सपा का नेता मार दिया जाता है और आरोपी नहीं पकड़े जाते, लेकिन अमेठी में बीजेपी के नेता की हत्या होने पर ऐसा नहीं होता। उन्होंने कहा कि चुनाव अमीरी गरीबी के मुद्दे पर नहीं हुए, लेकिन आगे जनता जरूर सोचेगी कि अमीर और अमीर होता जा रहा है गरीब और गरीब होता जा रहा है ।

बीएसपी सुप्रीमो मायावती के विधानसभा उप चुनाव में अकेले लड़ने के एलान पर सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि गठबंधन टूटा है या गठबंधन पर जो भी कहा गया है। उस पर सोच-समझ कर विचार करेंगे। समाजवादी पार्टी भी उपचुनाव के लिए तैयार है। सपा अकेली लड़ेगी।

लोकसभा चुनाव में भाजपा को रोकने के लिए सपा, बसपा और रालोद ने अपना गठबंधन बनाया था। इस गठबंधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने तंज कसे थे। दोनों नेताओं ने भविष्यवाणी की थी कि लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद यह गठबंधन टूट जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस