नई दिल्ली, जेएनएन। चौटाला परिवार में एकता की सर्वखाप पंचायत के प्रस्‍ताव पर जननायक जनता पार्टी के नेता एवं पूर्व सांसद दुष्यंत चौटाला ने तिहाड़ जेल में पिता अजय सिंह चौटाला से मुलाकात की। दुष्यंत पिता से चर्चा के बाद आज खाप पंचायत को चाचा अभय सिंह चौटाला के साथ एक बार आने और परिवार की एकजुटता के प्रस्‍ताव पर जवाब देंगे। इस सब के बीच खाप के हरि निर्णय को मानने की बात कह कर अभय चौटाला ने राजन‍ीतिक सूझबूझ का परिचय देने के साथ ही भतीेजे दुष्‍यंत को सियासी गुगली में फंसा लिया है। जो भी पक्ष एकता की कोशिश को नकारेगा उस पर खापों की अनदेखी का आरोप लग सकता है।

बता दें कि सर्वखाप पंचायत ने चौटाला परिवार की एकजुटता के लिए बीड़ा उठाया है। इसके तहत पंचायत पदाधिकारियों ने दुष्यंत को इस दिशा में अपना फैसला देने के लिए 4 सितंबर तक का समय दिया है। खाप नेताओं ने 3 सितंबर को पूर्व मुख्‍यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला से भी उनके तेजाखेड़ा फार्म हाऊस पर मुलाकात की थी। ओमप्रकाश चौटाला ने भी खाप के फैसले को मानने की बात कही थी।

बता दें कि पिछले रविवार को खाप पंचायत ने नई दिल्‍ली में अभय चौटाला के आवास पर बैठक कर चौटाला परिवाी को फिर एकजुट करने का प्रस्‍ताव दिया था। खाप ने दुष्‍यंत चौटाला को भी फोन कर और पत्र भेजकर इस बारे में प्रस्‍ताव दिया गया था। दुष्‍यंत ने इस पर 3 सितंबर को पिता अजय चौटाला से तिहाड़ जेल में मिलकर चर्चा के बाद जवाब देने की बात कही थी। इसके बाद खाप ने दुष्‍यंत को 4 सितंबर को अपना जवाब देने को कहा था।

दुष्‍यंत चौटाला ने सर्व खाप पंचायत के प्रस्ताव पर पिता अजय चौटाला से की चर्चा

दुष्यंत चराने पंचायत पदाधिकारियों को आश्वस्त किया था कि वे मंगलवार को अजय सिंह मुलाकात के बाद अपना निर्णय बताएंगे। अजय सिंह से मुलाकात के बाद दुष्यंत चौटाला ने अभी तक यह साफ नहीं किया है कि परिवार की एकजुटता कराने के खाप पंचायत के प्रयासों को वे या उनका परिवार किस रूप में ले रहा है। हालांकि माना जा रहा है कि दुष्यंत इस बाबत खाप पंचायत के पदाधिकारियों को आज पूरा विवरण देंगे।

यह भी पढ़ें: परिवार में एकता की कोशिशों के बीच नैना चौटला सहित JJP से जुड़े चार विधायकों का इस्‍तीफा

बता दें, पिछले साल 7 अक्टूबर को गोहाना रैली के बाद हरियाणा की मुख्य विपक्षी पार्टी इंडियन नेशनल लोकदल दो फाड़ हो गई थी। पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला के बड़े बेटे अजय सिंह चौटाला के पुत्र दुष्यंत ने जन नायक जनता पार्टी नाम से अलग पार्टी बना ली थी। इसके बाद से चौटाला परिवार भी राजनीतिक तौर पर बटा हुआ है। पिछले दिनों जब खाप पंचायत ने चौटाला परिवार को एकजुट करने प्रयास किया तो इनेलो के नेता और राज्य में नेता प्रतिपक्ष रहे अभय सिंह चौटाला पंचायत के हर निर्णय को मानने को राजी हो गए। इसके बाद पंचायत ने दुष्यंत को अपना मत देने के लिए कहा था।

यह भी पढ़ें: युवक ने घूमने के लिए दोस्त की कार ली, फिर कुरुक्षेत्र के एसएचओ को बेच दी

दुष्यंत पर भारी पड़ सकती है अभय चौटाला की राजनीतिक सूझबूझ

खाप पंचायत ने चौटाला परिवार की एकजुटता के प्रयास में पहले ही साफ कर दिया है कि परिवार का जो भी सदस्य उनकी मुहिम को फेल करने का बयान देगा, उसके राजनीतिक तौर पर नुकसान होगा। इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला ने राज्य में खाप पंचायत के वर्चस्व को ध्यान में रखते हुए अपनी राजनीतिक सूझबूझ का परिचय दिया।

यह भी पढ़ें: तो फिर एक हाेगा चौटाला परिवार, सर्वखाप ने उठाया बीड़ा, अभय बोले- अजय जो कहेंगे मानूंगा

माना जा रहा है कि पूर्व सीएम ओमप्रकाश चौटाला भी इस समय जेल से पैराले पर बाहर हैं और उनके दिशानिर्देशों पर ही अभय ने परिवार की एकजुटता के लिए पंचायत के हर निर्णय को मान लिया। अब यदि दुष्यंत इस मामले में अपना सकारात्मक जबाव नहीं देते हैं तो यह उनके लिए राजनीतिक तौर पर नुकसानदायक हो सकता है। खाप पंचायत की तरफ से भी अब बुधवार को दुष्यंत का जबाव आने के बाद ही पूरा विवरण दिया जाएगा।

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस