लखनऊ, जेएनएन। देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस को लेकर उत्तर प्रदेश में भी बड़ा उल्लास है। कोरोना वायरस संक्रमण के कारण लोग भले ही कोविड प्रोटोकॉल का पालन पर रहे हैं, लेकिन सरकारी भवनों की सजावट से लोगों की उमंग का पता चल रहा है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने राजभवन, उत्तर प्रदेश में झंडरोहण किया जबकि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधान भवन प्रांगण में तिरंगा फहराया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 74 वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विधान भवन मुख्य द्वार पर ध्वजारोहण किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज का दिन उत्साह और उमंग का दिन है। अनगिनत त्याग और बलिदान के फलस्वरूप 15 अगस्त, 1947 को स्वाधीनता प्राप्त हुई। सत्य और अहिंसा के पुजारी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के नेतृत्व में स्वाधीनता आन्दोलन चला था। मुख्यमंत्री ने सरदार पटेल, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, बाबा साहब डाॅ भीम राव आंबेडकर, डाॅ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जैसे भारत माता के वीर सपूतों को कृतज्ञतापूर्वक स्मरण करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि दी। उन्होंने देश की स्वाधीनता को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए अपना बलिदान देने वाले सभी ज्ञात-अज्ञात शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पांच पुलिस कर्मियों को ‘मुख्यमंत्री उत्कृष्ट सेवा पदक’ प्रदान किए जाने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने संदेश में कहा कि 74वें स्वतंत्रता दिवस की सभी देशवासियों को बधाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का दिन हम सबके लिए उत्साह और उमंग का दिन है। हम सब जानते हैं कि अनगिनत त्याग और बलिदान के फलस्वरूप 15 अगस्त 1947 को देश को स्वाधीनता प्राप्त हुई थी। मैं इस अवसर पर सत्य और अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी जी को कोटि-कोटि नमन करता हूं। जिनके नेतृत्व में स्वाधीनता का आंदोलन चला था। सरदार पटेल, नेताजी सुभाष चन्द्र बोस, बाबा साहब डॉ. बीआर आम्बेडकर, पंडित डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जैसे भारत माता के वीर सपूतों को कृतज्ञतापूर्वक स्मरण करते हुए मैं विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जब देश 74वां स्वाधीनता दिवस मना रहा है, तब स्वाभाविक रूप से हम सबको देश की स्वाधीनता के महत्व को समझना होगा। इसके साथ ही इस स्वतंत्रता को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए सार्थक प्रयास करना होगा। यह तो प्रत्येक भारतवासी के स्तर पर हो सकते हैं, इसका भी अवश्य ध्यान रखना होगा। उन्होंने कहा कि मैं इस अवसर पर भारत माता के उन सभी सैनिकों को कोटि-कोटि नमन करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं जिन्होंने देश की स्वाधीनता को अक्षुण्ण बनाए रखने के लिए अपना बलिदान दिया है। मैं देश की सुरक्षा के लिए शहीद होने वाले उन सभी सपूतों को कृतज्ञतापूर्वक स्मरण करते हुए, विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं।

ध्वजारोहण के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज ही के दिन 1947 में हमें स्वाधीनता प्राप्त हुई थी। उन्होंने कहा कि आज हम सब के पास अवसर है तो कोविड -19 जैसी त्रासदी भी है। मुख्मयंत्री ने कहा कि हम दुनिया में अन्य देशों को देखें तो कोरोना काल के दौरान उनकी अर्थव्यवस्था बुरी तरह प्रभावित है, लेकिन उत्तर प्रदेश में विगत वर्ष की तुलना में राजस्व में केवल तीन फीसदी की ही कमी आई है। यानी कोरोना से लड़ते हुए, हम अपने राजस्व प्राप्ति के लक्ष्य को पूरा करने की दिशा में तेजी से अग्रसर रहे हैं, यह साबित करने का कार्य उत्तर प्रदेश में किया गया है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में जिस प्रकार की योजना तैयार हुई, उसका परिणाम है भारत सुरक्षित और संतोषजनक स्थिति में पाता है। इसके खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाने के लिए कोरोना योद्धाओं पुलिस, सफाई कर्मी अफसर, डॉक्टर्स का हृदय से अभिनंदन करता हूं। इन सभी ने आदर्श सेवा का भाव से कार्य किया।

यह  भी पढ़ें : 74th Independence Day 2020: जब आन-बान-शान से लहराया तिरंगा, दौड़ पड़ी उल्लास की लहर

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हम सब जानते हैं कि अनगिनत त्याग और बलिदान के फलस्वरूप 15 अगस्त 1947 को देश को स्वाधीनता प्राप्त हुई थी। आज देश 74वां स्वाधीनता दिवस मना रहा है। अब हमको इससे भी बेहतर क्या प्रयास हो सकता है उस पर प्रयास करना। हमने प्रदेश में एक लाख 70 हजार करोड़ की लागत से 80 करोड़ लोगों तक नि:शुल्क खाद्यान योजना शुरू की। सरकार 18 करोड़ लोगों यूपी में मार्च से अब तक पर्याप्त खाद्यान उपलब्ध करा रही है। कोरोना महामारी में भी हमारी मशीनरी ने पूरी लगन से गरीब, बेरोजगार तथा मजदूरों की जमकर सेवा की और सभी राज्यों से बेहतर परिणाम भी दिए हैं। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोग सोचते थे कोविड -19 जैसी त्रासदी में स्थिति बेहद भयावह होगा लेकिन काम अच्छा हुआ। पुलिस, प्रशासनिक और डॉक्टरों ने काम किया, बेहतर परिणाम दिया। हम अपने सभी सहयोगियों की बधाई देते है। उन्होंने देश के 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर विधान भवन में आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने सभी मंत्री, अधिकारीगण तथा उपस्थित सभी को 74वें स्वाधीनता दिवस के अवसर पर हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अप्रतिम त्याग और बलिदान से मां भारती को ब्रितानी परतंत्रता से मुक्त कराने वाले हुतात्माओं को कोटिश: नमन। आइए हम सभी आज के पावन अवसर पर एक-भारत, श्रेष्ठ-भारत, समावेशी-भारत के निर्माण के लिए संकिल्पत हों। जय हिंद। इसके साथ ही डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी ने डीजीपी ऑफिस और उप लोकायुक्त दिनेश कुमार सिंह ने लोकायुक्त सभागार विभूति खंड गोमती नगर लखनऊ में झंडारोहण किया। 

भाजपा के भाजपा के संगठन मंत्री सुनील बंसल ने भाजपा प्रदेश कार्यालय लखनऊ, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सपा कार्यालय में और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कांग्रेस प्रदेश कार्यालय पर झंडारोहण किया।

सुरक्षा व्यवस्था काफी मुस्तैद : देश की आजादी की 74वीं जयंती पर लखनऊ में सुरक्षा व्यवस्था काफी सख्त की गई है। इसकी पूर्व संध्या पर ही होटलों, लॉज, व्यवसायिक प्रतिष्ठानों, धार्मिक स्थलों, वीवीआइपी इमारतों, बस स्टेशन रेलवे स्टेशन फॉर मेडिकल संस्थानों के आसपास व अन्य भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में सघन सुरक्षा चेकिंग की गई। पुलिस कमिश्नर की ओर से सभी जगहों पर कड़ी चौकसी बरतने के निर्देश दिए गए हैं। शहर में जगह-जगह बैरिकेडिंग कर वाहनों व संदिग्ध व्यक्तियों की तलाशी ली गई। राजधानी के सभी बार्डर क्षेत्रों पुलिस की चौकसी बढ़ा दी गई। सभी पुलिस कर्मियों को चप्पे-चप्पे पर पैनी निगाह रखने का निर्देश दिया गया है। सुरक्षा पर कड़ी नजर रखने के लिए पुलिस के ड्रोन कैमरे भी शहर में विभिन्न स्थानों पर तैनात कर दिए गए हैं। राजधानी में बॉर्डर क्षेत्रों के साथ सभी वीआइपी स्थलों पर भी सुरक्षा का दायरा बढ़ा दिया गया है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021