वाराणसी, जेएनएन। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण व सुंदरीकरण में निर्माण व संसाधन मद में अब 413 करोड़ रुपये खर्च होंगे। पहले इसके लिए कैबिनेट से 339 करोड़ रुपये स्वीकृत किए गए थे। इसमें 74 करोड़ रुपये बढ़ गए हैं। इसमें चार नए निर्माण के मद में 37 करोड़ के साथ ही नौ फीसद एजेंसी चार्ज और 4.70 करोड़ रुपये बिजली संबंधित खर्च के जुड़े हैं। वहीं नौ करोड़ रुपये फर्नीचर व 5.40 करोड़ रुपये सुरक्षा संसाधन पर खर्च किए जाएंगे। समस्त खर्च को जोड़ कर संशोधित प्रस्ताव मंदिर प्रशासन की ओर से धर्मार्थ कार्य विभाग को भेज दिया गया है। इसे जल्द स्वीकृति मिलने के साथ जारी होने की उम्मीद है। मंदिर के लिए भवनों की खरीद में 395 करोड़ पहले ही चरण में खर्च किए जा चुके हैं।

विकास कार्यों की समीक्षा व निरीक्षण के लिए शुक्रवार को बनारस आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर विस्तारीकरण व सुंदरीकरण प्रोजेक्ट की अलग से सर्किट हाउस में बैठक की। इसमें अफसरों ने उन्हें पहले से स्वीकृत कार्य नवंबर तक पूरे करने का भरोसा दिया। साथ ही एक दिन पहले ही नए जुड़े चार प्रोजेक्ट यानी रैैंप भवन, मणिकर्णिका गेट, कैफे व गोयनका लाइब्रेरी स्थल पर बनने वाले भवन समेत भेजे गए संशोधित प्रस्ताव व आगणन भेजे जाने की जानकारी दी गई। सीएम ने कहा कि स्वीकृति में किसी स्तर पर देर न होगी, कार्य में तत्परता जारी रखी जाए। निरीक्षण के लिए निकलने से पहले सीएम ने सर्किट हाउस में ही पूरे प्रोजेक्ट की समीक्षा की। डाक्यूमेंट्री के जरिए कार्य प्रगति भी देखी। हालांकि इसे मार्च में भी सीएम को दिखाया गया था, लेकिन कोरोना के कारण अब तक खास प्रगति न हो सकी थी। अब उसमें अन्य खर्चों को जोड़ कर पुन: भेजा गया है। कार्यदायी एजेंसी लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता संजय गोरे ने स्वीकृति के साथ ही नए भवनों में भी कार्य शुरू करा देने का भरोसा दिया।

14 भवनों का खड़ा हो गया ढांचा, चल रही फिनिशिंग

कारिडोर निर्माण का निरीक्षण के लिए पहुंचे सीएम ने मंदिर चौक से बाबा दरबार शिखर व गंगा का दर्शन किया। दरअसल, चौक समेत 14 भवनों की छत समेत ढांचा खड़ा हो गया है। अब उनमें ब्रिक वर्क, टाइलिंग व फ्लोर वर्क किया जा रहा है। इसके साथ ही बिजली, अग्नि शमन व वातानुकूलन के भी कार्य किए जा रहे हैैं। शेष नौ में चार रास्ते में होने के कारण बाहर नहीं आ पा रहे। दूसरा रास्ता बनाने के लिए कंट्रोल रूम तोड़ा जाएगा।

Edited By: Saurabh Chakravarty