मुंबई, एजेंसी। महाराष्ट्र विधानसभा के कम से कम 176 नवनिर्वाचित विधायक आपराधिक आरोपों का सामना कर रहे हैं। एक समूह द्वारा शनिवार को जारी आंकड़े में यह जानकारी दी गई है।

शपथ पत्रों का विश्लेषण

कुल 288 विधायकों में से 285 की ओर से सौंपे गए शपथ- पत्रों के विश्लेषण के आधार पर एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफा‌र्म्स (एडीआर) ने पाया कि 62 फीसदी (176 विधायकों) के खिलाफ आपराधिक मामले लंबित हैं। 40 फीसदी (113 विधायकों) के खिलाफ गंभीर आपराधिक मामले हैं। एडीआर ने कहा है कि शेष तीन विधायकों के खिलाफ शपथ पत्र का विश्लेषण नहीं किया जा सका है, क्योंकि चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उनका पूरा दस्तावेज मौजूद नहीं है।

निवर्तमान विधायकों के आंकड़े से तुलना

मौजूदा जानकारी की तुलना निवर्तमान विधायकों के आंकड़े से की गई। एडीआर ने कहा है कि 2014 के चुनाव के बाद राज्य विधानसभा में 165 विधायक आपराधिक मामलों का सामना कर रहे थे। इनमें से 115 के खिलाफ गंभीर आपराधिक आरोप थे।

विधानसभा में ज्यादा संख्या में करोड़पति

समूह ने यह भी पाया है कि मौजूदा विधानसभा में निवर्तमान के मुकाबले ज्यादा संख्या में करोड़पति पहुंचे हैं। इस बार 264 (93 फीसदी) धनकुबेर विधानसभा पहुंचे हैं, जबकि पिछली विधानसभा में 253 (88 फीसदी) धनकुबेर थे। नई विधानसभा में विधायकों की औसत संपत्ति 22.42 करोड़ रुपए है, जबकि 2014 में यह 10.87 करोड़ रुपए थी। 

महाराष्‍ट्र में 1007 करोड़पति रहे उम्मीदवार

महाराष्ट्र चुनाव मैदान में 453 उम्मीदवार ऐसे रहे, जिनकी संपत्ति पांच करोड़ रुपये या इससे ज्यादा थी। 304 उम्मीदवारों की संपत्ति दो करोड़ रुपये से पांच करोड़ रुपये के बीच रही। 540 उम्मीदवार ऐसे रहे जिनकी संपत्ति 50 लाख रुपये से दो करोड़ रुपये के बीच है। 680 उम्मीदवार ऐसे रहे, जिनकी संपत्ति 10 लाख रुपये से 50 लाख रुपये के बीच थी। 1135 उम्मीदवार ऐसे रहे जिनकी संपत्ति 10 लाख रुपये से भी कम थी। इस बार के चुनाव में 1007 उम्मीदवार ऐसे हैं, जो करोड़पति हैं, जबकि 2014 में 1095 उम्मीदवार करोड़पति थे। 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस