अहमदाबाद, प्रेट्र। Gujarat Assembly By Election 2020: गुजरात विधानसभा की आठ सीटों के लिए तीन नवंबर को होने वाले उपचुनाव के लिए अब तक 102 नामांकन वैध पाए गए हैं। मतगणना 10 नवंबर को होगी। राज्य के मुख्य निर्वाचन कार्यालय की रविवार को जारी विज्ञप्ति के अनुसार, शनिवार को 135 नामों में से 33 उम्मीदवारों के नामांकन फॉर्म खारिज कर दिए गए थे। हालांकि 19 अक्टूबर को नाम वापसी की अंतिम तिथि के बाद प्रतियोगियों की अंतिम संख्या ज्ञात होगी अब तक मोरबी से 20 उम्मीदवार है। इसके बाद अब्दसा से 19, लिंबडी से 14, गड्डा से 13, धारी से 12, कर्जन से 11, डांग से नौ और कपर्दा से चार हैं। भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवारों के अलावा 75 निर्दलीय उम्मीदवारों ने नामांकन भरे हैं। इनमें बहुजन मुक्ति पार्टी, भारतीय जनता परिषद, बहुजन महा पार्टी, व्यास परिवार पार्टी, युवा जन जागृति पार्टी, राष्ट्रवादी जन चेतना पार्टी आदि हैं।

बीजेपी के प्रद्युम्न सिंह जडेजा और कांग्रेस के शांतिलाल शेंधानी अब्दसा के मुख्य प्रतियोगी हैं, जबकि मुकाबला बीजेपी के किरीट सिंह राणा और कांग्रेस के चेतन खाचर के बीच लिंबडी में है। मोरबी में बीजेपी के ब्रिजेश मेराजा कांग्रेस के जयंतीलाल पटेल के खिलाफ मैदान में हैं। सत्तारूढ़ भाजपा ने जयसुखभाई काकड़िया, आत्माराम परमार, अक्षय पटेल, विजय पटेल और जीतू चौधरी को धारी, गढ़ा (एससी), कर्जन, डांग (एसटी) और कापरा (एसटी) से कांग्रेस के सुरेश कोटडिया, मोहन सोलंकी, किरित सिंह जडेजा के लिए उतारा है। सूर्यकांत गावित और बाबूभाई पटेल। छोटू वसावा की भारतीय ट्राइबल पार्टी ने कर्जन और डांग से महेंद्र वसावा और बाबूभाई गावित को मैदान में उतारा है। कांग्रेस के सभी पांच विधायक जो इस साल की शुरुआत में भाजपा में शामिल हुए, विधायकों के इस्तीफे के बाद अब्दसा, मोरबी, धारी, कर्जन और कपरदा में उपचुनाव के लिए मैदान में उतरे। 

गौरतलब है कि गुजरात में आठ सीटों पर तीन नवंबर को होने वाले विधानसभा उपचुनाव में प्रदेश के नेता ही कमान संभालेंगे। भाजपा में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जीतू भाई को इस सूची में शामिल ही नहीं किया, वहीं पूर्व विधायक अल्पेश ठाकोर स्‍टार प्रचारकों की सूची में सबसे नीचे हैं। इससे पहले शुक्रवार को अंतिम दिन तक 8 सीट पर 135 नामांकन भरे गए। भाजपा अध्‍यक्ष सी आर पाटिल, सीएम विजय रुपाणी, केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्‍तम रुपाला सहित भाजपा के 30 स्‍टार प्रचारक होंगे। पूर्व अध्‍यक्ष जीतू वाघाणी का तो इस सूची से पत्‍ता ही कट गया। उनके नेतृत्‍व में 2017 का चुनाव हुआ था जिसमें भाजपा 99 पर सिमट गई थी।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस