नई दिल्ली, एएनआइ। संसद के केंद्रीय कक्ष में आयोजित नेशनल यूथ पार्लियामेंट फेस्टिवल में शामिल युवाओं ने कहा कि वे देश के विकास में अपना योगदान देना चाहते हैं और इसकी प्रगति में भूमिका निभाना चाहते हैं। उत्तर प्रदेश की मुदिता मिश्रा को महोत्सव में पहला स्थान मिला। उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन से बहुत प्रभावित हैं।

उन्होंने कहा, प्रौद्योगिकी और नई खोज के जरिये हम एक बार फिर भारत को विश्व गुरु किस तरह बना सकते हैं? भारत को हम पहले स्थान पर कैसे ला सकते हैं, हमें इसके लिए कठोर परिश्रम करना होगा। महोत्सव में दूसरे स्थान पर रही महाराष्ट्र की अयाति मिश्रा ने कहा कि मैं अर्थशास्त्र की छात्रा हूं। मैं अर्थशास्त्र के जरिये राष्ट्र निर्माण में योगदान देना चाहती हूं। तीसरे स्थान पर रहे सिक्किम के अविनाम मांगेर ने कहा कि उन्हें लगता है कि इस सम्मान से देश के प्रति उनकी जिम्मेदारी बढ़ गई है।

राजनीति में वंशवाद पर शुरू से हमलावर रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युवाओं से अपील की है कि इसके खात्मे के लिए उन्हें ही सकारात्मक सोच के साथ बड़ी संख्या में राजनीति में आना होगा। युवाओं से मुखातिब मोदी ने कहा कि पिछले दिनों में बहुत कुछ बदला है। चुनावी राजनीति में सरनेम की जगह ईमानदारी और प्रदर्शन को महत्व मिलना शुरू हुआ है, लेकिन वंशवाद का जहर अब भी बाकी है। इसे खत्म कर लोकतंत्र को मजबूत करने का बीड़ा युवाओं को ही उठाना होगा। स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर आयोजित यूथ पार्लियामेंट में हिस्सा ले रहे युवाओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने यह बात कही।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021