नई दिल्‍ली, एजेंसी। उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने जया प्रदा पर सपा नेता आजम खां की विवादित टिप्‍पणी को लेकर करारा हमला बोला है। उन्‍होंने कहा है कि आजम खां जैसे लोगों के लिए ही हमने सरकार बनने के बाद एंटी रोमियों स्‍क्‍वाएड गठित की थी। इसके साथ ही योगी ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और बसपा सुप्रीमो मायावती पर भी निशाना साधा।

योगी ने कहा कि कहा कि आजम खां के शर्मनाक बयान के बावजूद अखिलेश और मायावती दोनों चुप हैं। आजम का बयान समाजवादी पार्टी की सोच को दर्शाता है। इस बयान पर अखिलेश यादव की चुप्पी शर्मनाक है। इस बयान पर मायावती की चुप्पी भी दर्शाती है कि वह सत्ता के लिए कुछ भी करने और सहने को तैयार हैं। वहीं जया प्रदा ने भी आजम खां पर पलटवार करते हुए कहा कि क्‍या उनके घर में मां-बेटियां नहीं हैं जो वह ऐसा बयान दे रहे हैं।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी आजम खान के बयान की निंदा की है। उन्होंने ट्वीट कर मुलायम सिंह यादव से आजम खां के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। अपने ट्वीट में उन्‍होंने अखिलेश और डिंपल यादव को भी टैग किया है। वहीं कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने ट्वीट कर कहा कि जया प्रदा पर आजम खां की टिप्पणी अपमानजनक है। मैं उम्‍मीद करता हूं कि चुनाव आयोग और अखिलेश यादव इसका संज्ञान लेंगे और आजम खां के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।

इस बीच, महिला आयोग ने भी आजम खां के बयान पर संज्ञान लिया है। आयोग ने आजम खान को नोटिस जारी किया है। दूसरी ओर इसी बयान को लेकर आजम खां के खिलाफ केस भी दर्ज हो गया है। यह केस रामपुर के मजिस्ट्रेट ने दर्ज कराया है। बता दें कि आजम खां ने रामपुर में अखिलेश यादव की मौजूदगी में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए शर्मनाक विवादित बयान दिया था। 

बता दें कि मौजूदा लोकसभा चुनाव में आजम खां के खिलाफ 13 दिन में नौ मुकदमे दर्ज हो चुके हैं। आठ मुकदमे आपत्तिजनक बयानों को लेकर हुए हैं, जबकि एक मुकदमा अनुमति से अधिक देर तक रोड शो निकालने को लेकर दर्ज किया गया है। इतने मुकदमे दर्ज होने के बाद विरोधी दल अब उनके चुनाव लड़ने पर रोक लगाने की मांग करने लगे हैं। पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान भी भड़काऊ और आपत्तिजनक बयानबाजी करने को लेकर आजम खां के खिलाफ सात मुकदमे किए गए थे। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप