बेंगलुरु, पीटीआइ। Karnataka MLC Election। कर्नाटक भाजपा के वरिष्ठ नेता बी एस येदियुरप्पा के बेटे बी वाई विजयेंद्र का कद पार्टी में बढ़ सकता है। पूर्व सीएम येदियुरप्पा ने बुधवार को भाजपा में अपने बेटे और राज्य उपाध्यक्ष बी वाई विजयेंद्र की बड़ी भूमिका की संभावना का संकेत दिया है। कर्नाटक विधान परिषद की सात सीटों के लिए तीन जून को होने वाले द्विवार्षिक चुनाव के लिए विजयेंद्र को मैदान में न उतारने के फैसले के बाद उनका बयान सामने आया है।

वफादार लोगों को निराश नहीं करेगी पार्टी

येदियुरप्पा ने आगे कहा, "विजेंद्र को विधान परिषद के टिकट से वंचित किए जाने के लिए कोई अलग अर्थ निकालने की आवश्यकता नहीं है। मुझे विश्वास है कि स्वाभाविक रूप से विजयेंद्र को भविष्य में एक बड़ा अवसर मिलेगा। पार्टी क्षमता और वफादार लोगों को कभी निराश नहीं करेगी।" पत्रकारों से बात करते हुए पूर्व सीएम ने कहा कि उनका उद्देश्य 2023 के विधानसभा चुनावों में कर्नाटक में पार्टी को सत्ता में वापस लाना है और इस संबंध में सभी प्रयास "अभी से ही" शुरू हो जाएंगे।

पूर्व मुख्यमंत्री के लिए झटका!

बता दें कि राज्य इकाई की सिफारिश को नजरअंदाज करते हुए भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने मंगलवार को पूर्व सीएम के बेटे को टिकट नहीं दिया था। नामांकन दाखिल करने की समय सीमा समाप्त होने से कुछ घंटे पहले ही पार्टी ने चार उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की जिसमें विजयेंद्र का नाम शामिल नहीं था। वहीं इस सूची में येदियुरप्पा के बेटे का नाम ना होने को पूर्व मुख्यमंत्री के लिए झटके के रूप में देखा जा रहा है।

विजयेंद्र ने दी थी यह प्रतिक्रिया

विजयेंद्र का टिकट काटे जाने के बाद उनकी प्रतिक्रिया भी सामने आई थी। उन्होंने ट्वीट कर अपने समर्थकों को पार्टी के निर्णय को तहे दिल से मानने को कहा था। उन्होंने अपने समर्थकों से इसके बाद कोई भी गलत बयानबाजी से भी बचने की हिदायत दी थी। विजयेंद्र ने कहा था कि पार्टी ने हमेशा उनका साथ दिया है और आगे बढ़ाया है, इसलिए सबको पार्टी के फैसले का स्वागत करना चाहिए।

Edited By: Mahen Khanna