नई दिल्ली, प्रेट्र। चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की पत्नी और पूर्व बैंकर नोवेल सिंघल लवासा आयकर विभाग की रडार पर आ गई हैं। उन पर कथित तौर पर कर चोरी का आरोप है।

आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को बताया कि अशोक लवासा की पत्नी को नोटिस जारी कर उनसे उनके आयकर रिटर्न में दिए गए कुछ विवरणों के बारे में स्पष्टीकरण मांगा गया है। इसमें उनके 10 कंपनियों में निदेशक होने की जानकारी भी शामिल है। प्रारंभिक जांच के बाद आयकर विभाग ने उनसे उनके निजी वित्त संबंधी दस्तावेज उपलब्ध करवाने के लिए भी कहा है।

आयकर विभाग नोवेल सिंह लवासा के रिटर्न से यह पता लगाने की कोशिश कर रहा है कि क्या पहले उन्होंने विभाग से अपनी आय छिपाई है या कर अधिकारियों से और कुछ छिपाया है। कर चोरी और 10 कंपनियों में निदेशक पद संभालने की यह जांच 2015 से 2017 के बीच की अवधि से संबंधित है। इस मामले में अशोक लवासा या उनकी पत्नी की कोई प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी है।

मालूम हो कि वित्त सचिव पद से सेवानिवृत्त होने के बाद अशोक लवासा को 23 जनवरी, 2018 को चुनाव आयुक्त नियुक्त किया गया था। हाल ही में संपन्न लोकसभा चुनावों के दौरान आदर्श आचार संहिता के कार्यान्वयन को लेकर मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा और अन्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्र के साथ उनके मतभेद खुलकर सामने आए थे।

 

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप