नई दिल्ली, एजेंसी। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के पद से इस्तीफा देने के बाद राज्य में सीएम के नए चेहरे की तलाश पूरी हो गई है। गांधीनगर में पार्टी के मुख्यालय में विधायक दल की बैठक में नए मुख्यमंत्री पद के लिए भूपेंद्र पटेल का नाम सामने आया है। केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने भूपेंद्र पटेल के नाम का एलान किया है। इसके पहले विधायक दल की बैठक में पूर्व सीएम विजय रूपाणी ने मुख्यमंत्री पद के लिए भूपेंद्र पटेल के नाम का प्रस्ताव रखा था। वहीं, अब भूपेंद्र पटेल राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मिलने उनके आवास पहुंचे। समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार भूपेंद्र पटेल सोमवार को दोपहर दो बजे सीएम पद की शपथ लेेंगे।

बता दें कि भूपेंद्र पटेल पाटीदार सामाज के नेता हैं। पटेल गुजरात के घाठलोडिया सीट से मौजूदा विधायक हैं। 2017 के विधानसभा चुनाव में पटेल ने रिकार्ड वोटों से जीत दर्ज की थी। इससे पहले भूपेंद्र पटेल अहमदाबाद अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी (AUDA) चेयरमैन भी रहे हैं। पटेल ने अहमदाबाद म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन (AMC) की स्टैंडिंग कमेटी के चेयरमैन भी रह चुके हैं।

मालूम हो कि केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी और नरेंद्र सिंह तोमर को केंद्रीय पर्यवेक्षक बनाया गया है। राज्य में विधानसभा चुनाव से लगभग सवा साल पहले मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने अपना इस्तीफा राज्यपाल आचार्य देवव्रत को सौंपा था। गुजरात की 182 सदस्यीय विधानसभा के लिये चुनाव दिसंबर 2022 में होने हैं।

विधायक दल की बैठक में नए नाम की घोषणा

कोरोना वायरस महामारी के दौरान भाजपा शासित राज्यों में पद छोड़ने वाले चौथे मुख्यमंत्री रूपाणी (65) ने दिसंबर 2017 में मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। रूपाणी के इस्तीफे की घोषणा के तुरंत बाद भाजपा के महासचिव (संगठन) बी एल संतोष और गुजरात राज्य इकाई के प्रभारी भूपेंद्र यादव ने पार्टी पदाधिकारियों से मुलाकात की थी। पार्टी सूत्रों ने कहा कि रविवार को होने वाली विधायक दल की बैठक में रूपाणी के उत्तराधिकारी के मुद्दे पर चर्चा की गई है।

रूपाणी के बाद इन नामों पर थी चर्चा

विजय रूपानी के इस्तीफे के बाद मुख्यमंत्री पद के दावेदारों के नाम को लेकर चर्चाएं तेज हो गई थी। राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल मुख्यमंत्री पद की रेस में सबसे आगे माने जा रहे थे। इसके अलवा केंद्रीय मंत्री मनसुख मांडविया, केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला और पूर्व गृह राज्यमंत्री प्रफुल्ल पटेल को भी मुख्यमंत्री पद के प्रत्याशी के रूप में देखा जा रहा था।

तीन महीने में बदले तीन राज्यों के मुख्यमंत्री

भाजपा ने तीन महीनों के भीतर तीन राज्यों के मुख्यमंत्री बदल चुकी है। कर्नाटक में भाजपा बीएस येदियुरप्पा की जगह पर बासवराज बोम्मई को लेकर आई। वहीं, उत्तराखंड में त्रिवेंद्र सिंह रावत की जगह तीरथ सिंह रावत को सीएम बनाया गया और फिर पुष्कर सिंह धामी को मुख्यमंत्री पद की जिम्मेदारी सौंपी गई। तीरथ सिंह रावत ने दो जुलाई, जबकि येदियुरप्पा ने 26 जुलाई को अपना इस्तीफा दिया था।

Edited By: Manish Pandey