नई दिल्ली, एजेंसियां। विपत्ति के समय में एकजुट होकर संकट का सामना करना हम हिंदुस्तानियों की सबसे बड़ी खासियत है। कोरोना वायरस के बढ़ते प्रसार के चलते पैदा हुए संकट के समय भी ऐसा ही कुछ देखने को मिल रहा है। राष्ट्रपति से लेकर मंत्री, सरकारी संगठनों से लेकर व्यक्तिगत और निजी संस्थाओं, उद्यमियों से लेकर फिल्मी हस्तियों तक ने प्रधानमंत्री राहत कोष में बढ़-चढ़कर योगदान किया है या दान देने का एलान किया है।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने एक महीने का वेतन देने की घोषणा की है। राष्ट्रपति भवन की तरफ से ट्वीट कर इसकी जानकारी दी गई। राष्ट्रपति ने अन्य लोगों से भी दान देने की अपील की है, ताकि कोरोना जैसे दानव को जड़ से खत्म किया जा सके। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति की इस उदारता के प्रति उनका आभार जताया है। प्रधानमंत्री ने ट्वीट किया है, 'धन्यवाद राष्ट्रपति जी। देश को रास्ता दिखाने और प्रेरित करने के लिए।'

उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू, लोकसभा के स्पीकर ओम बिरला, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, धर्मेद्र प्रधान व प्रकाश जावडेकर समेत अन्य कई मंत्रियों ने भी प्रधानमंत्री राहत कोष में योगदान देने की घोषणा की है। जावडेकर ने एक करोड़ रुपये देने की घोषणा की है। वह पुणे प्रशासन को भी एक करोड़ रुपये देंगे।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को ट्वीट किया, 'प्रधानमंत्री के आह्वान पर मैं, सुरेश अंगड़ी एक महीने का वेतन, रेलवे और सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम के 13 लाख कर्मचारी अपना एक दिन का वेतन देंगे, जो करीब 151 करोड़ रुपये है।' रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह एक महीने का वेतन देने की घोषणा की है। सेना, नौसेना और वायुसेना के जवानों के साथ ही रक्षा मंत्रालय के कर्मचारी भी एक दिन का वेतन दान करेंगे। यह पूरी रकम तकरीबन 500 करोड़ रुपये बैठेगी।

भाजपा ने भी कहा है कि उसके सभी सांसद एक महीने का वेतन दान करेंगे। पार्टी ने अपने लोकसभा के 303 और राज्य सभा के 83 सदस्यों से भी सांसद निधि से एक-एक करोड़ रुपये देने को कहा है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों की तरफ से 116 करोड़ रुपये का योगदान दिया जाएगा। केंद्रीय जांच ब्यूरो के अधिकारियों ने भी एक दिन का वेतन दान करने की घोषणा की है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने भी 21 लाख रुपये देने की घोषणा की है।

अडानी ग्रुप के गौतम अडानी ने 100 करोड़ रुपये देने का एलान किया है। अडानी ने ट्वीट कर कहा है कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में प्रधानमंत्री राहत कोष में अडानी फाउंडेशन 100 करोड़ रुपये का योगदान दे रहा है। जिंदल स्टील व‌र्क्स (जेएसडब्ल्यू) ने 100 करोड़ रुपये दान किया है। मैनकाइंड फार्मा ने भी 51 करोड़ रुपये दिए हैं। कोटक महिंद्रा बैंक ने ट्वीट किया है, 'कोटक महिंद्रा बैंक और उदय कोटक 50 करोड़ (प्रत्येक 25 करोड़) रुपये तत्काल प्रधानमंत्री राहत कोष में दिए हैं।' फिल्म निर्माता और टी-सीरीज कंपनी के मालिक भूषण कुमार ने पीएम राहत कोष में 11 करोड़ रुपये देने का एलान किया है।

एमडीएच समूह के चेयरमैन और प्रसिद्ध मसाला कारोबारी महाशय धर्मपाल ने अपने 97वें जन्मदिन के अवसर पर कोरोना वायरस की महामारी से पीडि़त लोगों की मदद के लिए पांच करोड़ रुपये दान देने की घोषणा की है। इस पांच करोड़ में से 2.5 करोड़ रुपये प्रधानमंत्री राहत कोष को, जबकि एक करोड़ रुपये दिल्ली के मुख्यमंत्री राहत कोष को दिए जाएंगे। इसी प्रकार एक करोड़ रुपये हरियाणा के कोरोना राहत कोष और 50 लाख रुपये आर्य समाज के राहत कोष को दिए जाएंगे। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस