नई दिल्ली, प्रेट्र। भाजपा ने कहा है कि कांग्रेस का प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के दस साल के कार्यकाल में सर्जिकल हमलों का दावा कपटपूर्ण और झूठा है। भाजपा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस आतंकवादियों के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की अनुमति नहीं देने की दोषी है। केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उसकी सर्जिकल स्ट्राइक 'अदृश्य और अज्ञात' थी।

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा ने कहा कि यह कपटपूर्ण और झूठा दावा है। हम सशस्त्र बलों का अत्यधिक सम्मान करते हैं। हमारी सेनाएं पाकिस्तान के भीतर, नियंत्रण रेखा के पार सर्जिकल हमला करने में सक्षम हैं, पर जब यूपीए सत्ता में था तो उसने ऐसा करने की अनुमति प्रदान नहीं की।

एक संवाददाता सम्मेलन में नरसिम्हा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सशस्त्र बलों को आतंकवादियों के खिलाफ कदम उठाने की अनुमति नहीं देने की दोषी है।

मुंबई आतंकी हमले 26/11 का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, 'तत्कालीन एयर चीफ मार्शल ने उस समय के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से पाकिस्तान के भीतर या नियंत्रण रेखा के पार हवाई हमले करने की अनुमति मांगी थी और उन्हें मना कर दिया गया था।'

 मसूद अजहर पर लगे प्रतिबंध को राष्ट्रीय सुरक्षा से जोड़ते हुए भाजपा ने विपक्ष को कठघरे में खड़ा किया है। पार्टी का कहना है कि जब देश जीतता है तो हर भारतवासी जीतता है। लेकिन विपक्ष को लगता है कि इस जश्न में शामिल हो गए तो राजनीतिक कीमत चुकानी होगी। भाजपा ने यह मानने इनकार नहीं किया कि राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा चुनाव ही नहीं हर वक्त मुद्दा होना चाहिए। इसे गर्व से अपनाना चाहिए।

गौरतलब है कि अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकी घोषित किए जाने का स्वागत करते हुए कांग्रेस ने मोदी सरकार पर सवाल खड़े किए थे और कहा था कि इसमें कश्मीर का जिक्र नहीं है।

गुरुवार को केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने पलटवार किया और कहा कि दस वर्षो से भारत की कवायद तीन बार फेल हो चुकी थी। यह भारत सरकार का ही प्रयास था कि विश्व समुदाय एकजुट हुआ और चीन को भी रुख बदलना पड़ा। लेकिन विपक्ष डरा हुआ है।

Posted By: Bhupendra Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप