जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। केंद्र सरकार की वित्तीय स्थिति को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दावे को सफेद झूठ करार देते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने तीखा हमला बोला। केजरीवाल के मुफ्त शिक्षा और मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं वाले बयान को भ्रामक बताते हुए अनुराग ठाकुर ने कहा कि मुफ्त और अनिवार्य शिक्षा की गारंटी का प्रावधान पूरे देश में अटल बिहारी वाजपेयी के समय में ही किया गया था और इससे कोई भी राज्य पीछे नहीं हट सकता है। इसी तरह मोदी सरकार ने देश के 55 करोड़ गरीबों के मुफ्त व कैशलेश इलाज के लिए आयुष्मान भारत जैसी योजना शुरू की। जिससे करोड़ गरीबों का निजी अस्पतालों में बेहतर इलाज सुनिश्चित हो रहा है। लेकिन केजरीवाल सरकार के कारण दिल्ली के गरीब अभी तक इस योजना से वंचित हैं।

ठाकुर ने तंज कसते हुए कहा कि जिनका स्वास्थ मंत्री ही जेल में हो उस दिल्ली की स्वास्थ्य सुविधाएं कैसी होंगी। मोहल्ला क्लीनिक किस हालत में है सारी दुनिया को पता है। उन्होंने कहा कि झूठे वादे करना इनकी आदत बन गई है।

अनुराग ठाकुर ने कहा कि आप नेता जब भी अपने आप को घिरा हुआ पाते हैं तब झूठी और सनसनीखेज अफवाहें फैलाकर जनता का ध्यान दूसरी भटकाने की कोशिश करने लगते हैं। लेकिन जनता उनकी चाल को समझ चुकी है और अब उनपर विश्वास नहीं करती है। जनता यह अच्छी तरह जानती है कि मोदी सरकार कोरोना जैसी वैश्विक आपदा के समय उनके साथ खड़ी नजर आए और 61500 करोड़ रुपए के मनरेगा के बजट को बढ़ाकर 1,11,500 करोड़ रुपये किया। उन्होंने कहा कि मनरेगा का बजट हमने कभी कम नहीं किया बल्कि बढ़ाया ही है।

खेल मंत्रालय की भी जिम्मेदारी संभाल रहे अनुराग ठाकुर ने कहा कि मोदी सरकार ने देश में खेलो के उत्थान लिए काम किया, जिसका परिणाम है कि कामनवेल्थ खेलों में हमारे खिलाड़ी 61 मेडल जीतने में सफल रहे। केजरीवाल खेल विश्वविद्यालय की बात करते हैं पर धरती पर वह कहीं नहीं है। दिल्ली सरकार का खेल बजट 200 करोड़ से घटकर 40 करोड़ रह गया।

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan