नई दिल्ली, प्रेट्र। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी अपने राष्ट्रपति पद के कार्यकाल पर एक किताब लिख रहे हैं। इस किताब में निश्चित रूप से उनके कार्यकाल में हुई नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइकों और ऐसे ही कई अन्य बड़े घटनाक्रमों का जिक्र अवश्य होगा। यह किताब प्रणब दा की आत्मकथा की श्रृंखला की चौथी कड़ी होगी। इस किताब का शीर्षक होगा, 'द प्रेसिडेंशियल ईयर्स'।

अपनी तरह की यह पहली किताब होगी जिसके बेहद चर्चित होने के पूरे आसार हैं। इस किताब का प्रकाशन इसी साल दिसंबर में होगा। किताब में देश के बतौर 13वें राष्ट्रपति उनकी जीवन यात्रा और सरकारी कामकाज का पूरा ब्योरा मिलेगा। 'द प्रेसिडेंशियल ईयर्स' का प्रकाशन रूपा पब्लिकेशन करेगा। उसने ही प्रणब मुखर्जी की पिछली तीनों किताबें ('द ड्रमैटिक डिकेड', 'द टरबुलेंट ईयर्स' व 'द कोएलेशन ईयर्स') प्रकाशित की हैं।

प्रणब मुखर्जी की नई किताब से राष्ट्रपति भवन के कामकाज का वह ब्योरा मिलेगा जो पहले कभी सामने नहीं आ सका है। खासकर जो मुद्दे सुर्खियां बने, जैसे- अरुणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन, नोटबंदी, सर्जिकल स्ट्राइक्स, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राजग सरकार से उनके संबंधों का भी जिक्र होगा।

--------------------------

Posted By: Bhupendra Singh