नई दिल्ली, जेएनएन। शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मंगलवार को एक बार फिर अफसरों को चौका दिया। बगैर किसी पूर्व सूचना के वह विज्ञान भवन में राज्यों के साथ अफसरों की चल रही बैठक में जा पहुंचे। उन्हें देख पहले तो अफसर भी चौंके, क्योंकि वह बगैर सूचना के पहुंचे थे, लेकिन तुरंत ही उन्हें बैठाया गया। इस दौरान मंत्री ने सभी अधिकारियों को लगन के साथ शिक्षा को मजबूती देने के काम में जुटने की नसीहत दी। साथ ही सुधारों पर सेनापति की तरह आगे बढ़कर काम करने पर भी जोर दिया।

केंद्रीय मंत्री निशंक बैठक में इस दौरान करीब पंद्रह मिनट तक रहे। साथ ही बताया कि जल्द ही वह नई शिक्षा नीति और पांच साल के विजन डाक्यूमेंट को लेकर राज्यों के शिक्षा मंत्रियों के साथ भी बैठक करेंगे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि शिक्षा एक समर्थ, सशक्त और समृद्ध नए भारत की नींव है। ऐसे में इसे मजबूती देना जरूरी है।

उन्होंने बैठक में उपस्थित सभी राज्यों के शिक्षा सचिवों और दूसरे अधिकारियों से नई शिक्षा नीति को लेकर सुझाव भी देने को कहा। साथ ही बताया कि वह 31 जुलाई तक इसे दे सकते है। राज्यों के साथ बातचीत को लेकर बुलाई गई इस बैठक में मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधिकारियों के साथ NCERT सहित स्कूली शिक्षा से जुड़े विभागों से जुड़े अधिकारी भी मौजूद थे।

गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री बनने के बाद निशंक ने मंत्रालय के अफसरों और कर्मचारियों से मिलने के लिए उनकी सीट पर जाकर भी चौंका दिया था। उन्होंने इस दौरान अधिकारियों और कर्मचारियों को फूल भी भेंट किया गया था।

 

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस