हैदराबाद, एजेंसी। तेलंगाना (Telangana) की राजधानी हैदराबाद (Hyderabad) में शुक्रवार को एक रैली में एक शख्स ने मंच पर लगे माइक को तोड़कर असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा (Assam CM Himanta Biswa Sarma) पर हमला करने की कोशिश की। हालांकि, मंच पर मौजूद लोगों ने तुरंत उस व्यक्ति पर काबू पा लिया।

'सीएम के बारे में गलत बयान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा'

असम के सीएम पर हमला करने की कोशिश करने वाले शख्स का नाम नंद किशोर व्यास है। उसे पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। नंद किशोर व्यास ने कहा, 'वे (सरमा) गणेश जी के दर्शन कर सकते हैं और भाषण दे सकते हैं, लेकिन जब उन्होंने सीएम (केसीआर) के लिए अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया, तो हम इसे बर्दाश्त नहीं कर सके। अगर कोई हमारे सीएम के बारे में कुछ गलत कहता है, तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।'

गणेश विसर्जन शोभायात्रा समेत विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिए सरमा हैदराबाद के दौरे पर हैं। शुक्रवार को उन्होंने ऐतिहासिक श्री भाग्य लक्ष्मी मंदिर में पूजा-अर्चना की। इस दौरान उन्होंने सभी के अच्छे स्वास्थ्य, शांति और समृद्धि के लिए प्रार्थना की।

वंशवाद से मुक्त होनी चाहिए देश की राजनीति- सरमा

सरमा ने तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव (KCR) पर निशाना साधा और कहा कि तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) के प्रमुख केवल वंशवाद की राजनीति में शामिल रहे हैं। उन्होंंने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, 'मुख्यमंत्री केसीआर भाजपा मुक्त राजनीति की बात करते हैं लेकिन हम वंशवाद मुक्त राजनीति की बात करते हैं। हम अभी भी हैदराबाद में उनके बेटे और बेटी की तस्वीरें देखते हैं। देश की राजनीति वंशवादी राजनीति से मुक्त होनी चाहिए।'

उन्होंने कहा, 'एक सरकार देश के लिए, लोगों के लिए होनी चाहिए, लेकिन एक परिवार के लिए कभी नहीं। देश में उदार और रूढ़िवादी मोर्चा है और दोनों के बीच ध्रुवीकरण हमेशा मौजूद रहा है।'

गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन पर रोक लगाने के खिलाफ बाइक रैली

भाग्यनगर गणेश उत्सव समिति ने असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा और उडुपी के द्रष्टा पेजावर स्वामी धर्माधिकारी को गणेश विसर्जन शोभायात्रा के लिए हैदराबाद आने के लिए आमंत्रित किया है। इससे पहले, भाग्यनगर गणेश उत्सव समिति ने मंगलवार को सिकंदराबाद के टैंकबंड में गणेश चतुर्थी के अवसर पर गणेश प्रतिमाओं के विसर्जन को रोकने के लिए तेलंगाना सरकार के विरोध में बाइक रैली का आयोजन किया।

दस दिनों तक चलता है गणेशोत्सव

गणेश चतुर्थी भगवान गणेश के जन्म का उत्सव है। यह सबसे लोकप्रिय हिंदू त्योहारों में से एक है। यह दस दिनों के तक चलता है। ऐसा माना जाता है कि इस दौरान भगवान गणेश अपनी मां देवी पार्वती के साथ धरती पर आते हैं और लोगों पर अपना आशीर्वाद बरसाते हैं। लोग अपने घरों, मंदिरों और पंडालों में भगवान गणेश की पूजा करते हैं।

Edited By: Achyut Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट