नई दिल्‍ली, एएनआइ। कांग्रेस नेता शशि थरूर द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर की गई एक टिप्पणी पर खड़े हुए विवाद में भाजपा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी भी कूद पड़े हैं। स्‍वामी का कहना है कि थरूर के बयान से नॉर्थ ईस्‍ट के लोगों को धक्‍का लगा है, उन्‍हें भारतीय संस्‍कृति और परंपराओं पर ऐसा बयान नहीं देना चाहिए था। उन्‍होंने कहा कि थरूर भी सूट-बूट में वेटर लगते हैं, तो इसका भी मजाक बनाया जाए।

स्‍वामी से जब थरूर के बयान पर टिप्‍पणी मांगी गई, तो उन्‍होंने कहा, 'थरूर के इस बयान से नॉर्थ ईस्‍ट के लोगों को बहुत धक्‍का लगा है और उन्‍होंने इसे व्‍यक्‍त भी किया है। नागा लोगों की वेशभूषा को मजाक की तरह लिया गया, उन्‍हें ऐसा नहीं कहना चाहिए था। दरअसल, शशि थरूर कॉकटेल पार्टी से बाहर निकले नहीं हैं। मंत्री बन गए, फिर सांसद हैं। लेकिन इससे उनके व्‍यवहार में कोई फर्क ही नहीं पड़ा है। वह ऐसे व्‍यवहार करते हैं, जैसे अंग्रेज अपनी कॉकटेल पार्टियों में किया करते थे। उनका बोलने का लहजा भी कुछ इसी तरह का है।'

भाजपा नेता ने आगे कहा, 'ठीक हैं थरूर कॉकटेल पार्टी में जाएं, लुटियन्‍स में डिनर करें, लेकिन भारतीय परंपराओं का उन्‍हें मजाक नहीं बनाना चाहिए। हमारे समाज में आज भी संस्‍कृति और परंपराएं बहुत मायने रखती हैं। इसलिए यह कहना कि अजीब-सी टोपी ये बहुत गलत है। अरे क्‍या तुम्‍हारा सूट-बूट अजीब नहीं लगता है? सूट-बूट पहनकर तुम बिल्‍कुल किसी रेस्‍तरां के वेटर जैसे लगते हो। इसका तो कभी किसी ने मजाक नहीं बनाया है। इसलिए नागा टॉपी पर उन्‍हें कमेंट नहीं करना चाहिए था।

गौरतलब है कि एक कार्यक्रम में रविवार को थरूर ने सवाल खड़े करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री मोदी पूर्वोत्तर की 'अजीब' और 'हास्यास्पद' टोपी पहन लेते हैं पर मुस्लिम टोपी पहनने से इनकार कर देते हैं। भाजपा ने उनकी टिप्पणी को पूर्वोत्तर के लोगों का अपमान बताया है। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने मांग की है कि कांग्रेस थरूर की टिप्पणी के लिए माफी मांगे।

Posted By: Tilak Raj