नई दिल्ली, जेएनएन। कश्मीर से धारा 370 हटाने के मोदी सरकार के फैसले तथा पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरयम नवाज की गिरफ्तारी के बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने देश में बुरी तरह घिर गए। जम्मू-कश्मीर पर भारतीय नेतृत्व के फैसले पर आगे की रणनीति तय करने के लिए पाकिस्तान की संसद में 6 अगस्त को संयुक्त सत्र बुलाया गया था। संसद में जब प्रधानमंत्री इमरान खान कश्मीर मुद्दे पर उठे सवालों का जवाब दे रहे थे तो उनके हाव-भाव में झल्लाहट साफ नजर आई।

संसद में विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ के सवालों का जवाब देते हुए इमरान ने अपना आपा खो दिया। उन्होंने विपक्ष से सलाह मांगते हुए कहा कि आप ही बताएं कि कश्मीर में भारतीय कार्रवाई के जवाब में उनकी सरकार को क्या कदम उठाने चाहिए। वहीं, बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की जनता का ध्यान हटाने के लिए इमरान खान ने मरयम नवाज को गिरफ्तार करवाया है। 

मरयम नवाज की गिरफ्तारी के बाद वहां की जनता प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ सड़क पर उतर आई है। महिलाएं प्रदर्शन कर रही हैं। पाक की सड़कों पर नारा लग रहा है- ' मोदी से तू डरता है, मरयम से तू लड़ता है'। इसके साथ ही लोग 'नियाजी गो बैक; नियाजी गो बैक' के नारे लगा रहे हैं।

इमरान को पाक का सबसे कमजोर नेता माना जा रहा

370 हटाने के मोदी सरकार के फैसले पर जवाब देते हुए इमरान ने अपने देशवासियों से कहा कि आखिर मैंने कौन सा कदम नहीं उठाया है, हमारा विदेश मंत्रालय तमाम देशों के राजदूतों के साथ बैठक कर रहा है। मैं दूसरे देशों के साथ भी संपर्क कर रहा हूं। अंतरराष्ट्रीय मंच से भी मदद मांग रहे हैं। पाकिस्तान में इसे बहुत बड़ी हार मानी जा रही है और मीडिया ने तो इसे 1971 के शर्मनाक हार तक से तुलना कर दिया। पाकिस्तान में इसे बड़ी कूटनीतिक हार मानी जा रही है।

पाकिस्तानी मीडिया जहां महज 2 हफ्ते पहले इमरान खान के अमेरिका दौरे का गुणगान कर रही थी और उसे इमरान का मास्टर स्ट्रोक बता रहा था, वहीं अब इसे बड़ी हार बता रहा है। इमरान खान की पूरे देश में फजीहत हो रही है और अब तक जो उन्हें मजबूत नेता मान रहे थे वे भी उन्हें अब तक का सबसे कमजोर नेता मानने लगे हैं। इन आलोचनाओं के बीच इमरान खान की सरकार बौखलाहट में भारत से कूटनीतिक संबंध तोड़ने की बात से लेकर युद्ध तक की धमकी दे रही है।

मरयम शरीफ की गिरफ्तारी से भड़के लोग

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की बेटी मरयम 8 जुलाई को मनी लांड्रिंग से जुड़े मामले में गिरफ्तार कर लिया गया है। विपक्षी दल पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएलएन) की उपाध्यक्ष मरयम को यहां कोट लखपत जेल में उस वक्त गिरफ्तार कर लिया गया जब वह इसी जेल में बंद अपने पिता से मुलाकात के बाद वापस लौट रही थीं। गिरफ्तारी के बाद 45 वर्षीय मरयम को लाहौर स्थित एनएबी मुख्यालय ले जाया गया।

चौधरी चीनी मिल भ्रष्टाचार मामले में एनएबी ने मरयम के चचेरे भाई यूसुफ अब्बास को भी गिरफ्तार किया है। इसके बाद पाकिस्तान की जनता भड़क गई है। पाकिस्तान में चर्चा है कि भारत और जम्मू-कश्मीर से ध्यान भटकाने के लिए पीएम इमरान खान की यह साजिश है। इमरान खान भारत की कूटनीति का जवाब के देने के बजाय विपक्षी दल के नेताओं की गिरफ्तारी कराने में जुटे हैं।

यह भी पढ़ेंः पाक का दांव अब उसी पर पड़ रहा भारी, इमरान खान को कोस रहे स्थानीय नागरिक

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस