मैंगलुरु, प्रेट्र। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस अभी भी उसी पुराने 'गरीबी हटाओ' के नारे को दोहरा रही है जिसे तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 1971 में दिया था।

उडुपी में एक प्रेस कांफ्रेंस में सीतारमण ने कांग्रेस की 'न्याय' योजना का जिक्र करते हुए कहा, 'क्या यह इसलिए है क्योंकि वे इतने वर्षो में गरीबी नहीं मिटा पाए?' विपक्षी पार्टियों के प्रस्तावित महागठबंधन पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी ही अकेले ऐसे नेता हैं जो प्रधानमंत्री के उच्च पद पर बैठने में सक्षम हैं।

कांग्रेस द्वारा नोटबंदी के बाद का एक कथित वीडियो जारी करने पर सीतारमण ने केरल की राजधानी तिरुवनंतपुरम में कहा कि सत्ता पाने की व्याकुलता में वह फर्जी, काल्पनिक और जानबूझकर बनाए गए दस्तावेजों को लेकर सामने आ रही है।

दरअसल, कांग्रेस ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें एक भाजपा नेता नोटबंदी के बाद 40 फीसद के कमीशन पर पुराने नोट बदल रहा है। सीतारमण ने कहा, 'अभी कुछ दिन पहले ही आपने देखा कि व्याकुलता में कांग्रेस ने डायरी का एक पन्ना या तथाकथित डायरी का पन्ना या कुछ और जारी किया था, सभी काल्पनिक, फर्जी और जानबूझकर बनाए गए दस्तावेजों पर आधारित हैं। जिसका हर दिन खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली द्वारा खंडन किया गया है।'

तिरुवनंतपुरम में ही एक चुनावी सभा में रक्षा मंत्री ने पूर्ववर्ती संप्रग सरकार पर आरोप लगाया कि 10 साल के शासनकाल में उन्होंने सशस्त्र बलों के लिए एक भी चीज नहीं खरीदी। यहां तक कि 10 साल में बुलेट प्रूफ जैकेट्स भी नहीं खरीदी गईं। हालांकि इस दौरान उन्होंने अपने पूर्ववर्ती एके एंटनी का नाम नहीं लिया।

सीतारमण ने कहा कि वह उन (एंटनी) पर टिप्पणी नहीं करना चाहतीं क्योंकि वह वरिष्ठ व्यक्ति और नेता हैं, लेकिन कांग्रेस पर हमला करते हुए उन्होंने कहा कि संप्रग काल में बंदूकें थीं, लेकिन गोलियां नहीं थीं। टैंक थे, लेकिन गोला-बारूद नहीं था। युद्धक विमान थे, लेकिन उनके काम करने के लिए प्रणालियां नहीं थीं। तो बड़ी सेना रखने का क्या फायदा जब आपने उन्हें सीमाओं की रक्षा करने के लिए कुछ भी नहीं दिया।

 

Posted By: Bhupendra Singh