मुंबई, प्रेट्र। एआइएमआइएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर मंगलवार रात एक व्यक्ति ने जूता उछाल दिया। उस वक्त ओवैसी दक्षिण मुंबई के नागपाड़ा में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। जूता उन्हें नहीं लगा। पुलिस ने बताया कि इस घटना के संबंध में अभियुक्त की पहचान कर ली गई है, लेकिन उसे गिरफ्तार नहीं किया गया है। इस रैली में ओवैसी एक बार में तीन तलाक मुद्दे पर अपना विरोध जता रहे थे।

इस हादसे के बाद औवेसी ने कहा, 'मैं अपने लोकतांत्रिक अधिकार के लिए अपनी जान भी देने के लिए तैयार हूं। ये सभी लोग निराश हैं जो यह नहीं देख सकते हैं कि तीन तलाक पर सरकार का फैसला जनता खासतौर पर मुसलमानों को स्वीकार नहीं है।'

हैदराबाद के सांसद ने कहा, 'ये लोग उन लोगों में से हैं जो महात्मा गांदी गोविंद पानसरे और नरेंद्र डाभोलकर के हत्यारों की विचारधारा का अनुसरण करते हैं। यह हमें उनके खिलाफ सच बोलने से नहीं रोक सकते हैं।'

औवेसी ने आरोप लगाया है कि तीन तलाक विधेयक मुस्लिमों के खिलाफ एक साजिश है और समुदाय के पुरुषों को दंडित करने के लिए एक चाल है। उन्होंने कहा कि 'पद्मावत' फिल्म से जुड़े विवाद के मामले पर संसद की एक समिति ने विचार किया था लेकिन तीन तलाक के मुद्दे को लेकर ऐसा कोई कदम नहीं उठाया गया।

जोन तीन के पुलिस उपायुक्त विरेंद्र मिश्र ने बताया कि पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के जरिए ओवैसी पर जूता फेंकने वाले व्यक्ति की पहचान कर ली है। आरोपी को गिरफ्तार करने की प्रक्रिया चल रही है।

यह भी पढ़ें: राजपूतों से सीख लें मुसलमान, बकवास है फिल्म 'पद्मावत', न जाएं देखने: ओवैसी

 

Posted By: Arti Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप