भोपाल, राज्य ब्यूरो। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जम्मू-कश्मीर में गुपकार गठबंधन के नेताओं के बयानों पर निशाना साधा है। उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी से सवाल पूछा है कि क्या वे गुपकार के नेताओं के साथ हैं। उनके द्वारा दिए जा रहे राष्ट्र विरोधी बयानों से सहमत हैं? शिवराज सिंह शुक्रवार को भाजपा प्रदेश मुख्यालय पर पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि नेशनल कांफ्रेंस और पीडीपी के नेता कह चुके हैं कि कांग्रेस इस गठबंधन का हिस्सा है। अब कांग्रेस को स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। कांग्रेस को यह भी बताना चाहिए कि अनुच्छेद 370 को लेकर उसका क्या दृष्टिकोण है? पीडीपी की नेता महबूबा मुफ्ती कहती हैं कि वे तब तक तिरंगा नहीं फहराने देंगी, जब तक उन्हें उनका झंडा नहीं मिल जाता। क्या यह बयान राष्ट्र विरोधी नहीं हैं। इन नेताओं का राष्ट्र विरोधी बयान देने का लंबा इतिहास रहा है। आतंकियों से रिश्ते भी रहे हैं।

शिवराज ने पूछा कि क्या कांग्रेस इन सब बातों से सहमत है? पूर्व मुख्यमंत्री फारख अब्दुल्ला ने कहा है कि जिला विकास परिषद के चुनाव कांग्रेस उनके साथ मिलकर लड़ेगी। शिवराज सिंह चौहान ने पूछा कि बाटला हाउस एनकाउंटर के बाद सोनिया गांधी को क्यों रातभर नींद नहीं आई और दिग्विजय सिंह क्यों बाटला हाउस के पक्ष में खड़े रहे?

लूट की दुकान बंद हो गई

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अनुच्छेद 370 समाप्त करने से जम्मू-कश्मीर के नेताओं की लूट की दुकान बंद हो गई। इन सभी नेताओं ने अपने बच्चों को विदेशों में पढ़ने भेज दिया और यहां रह रहे बच्चों के हाथों में पत्थर थमा दिए। जमीनों के हजारों करोड़ के घोटाले किए। अब सीबीआइ इसकी जांच कर रही है तो बेचैनी हो रही है। जवाहर लाल नेहरू ने जो दो गलतियां की थीं, उसे भाजपा ने सुधारा है।

शिवराज ने गुपकार नेताओं द्वारा दिए बयानों का तारीखवार जिक्र करते हुए कहा कि वहां के नेता कहते हैं कि अमेरिका और चीन की मदद से पुरानी व्यवस्था लागू करेंगे। कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ऐसे नेताओं के साथ खड़े होते हैं। कांग्रेस को बताना चाहिए कि क्या वह इन राष्ट्र विरोधी ताकतों के साथ है।

..इसलिए तोड़ा पीडीपी से गठबंधन

एक सवाल के जवाब में शिवराज ने कहा कि राष्ट्रविरोधी दृष्टिकोण वालों के साथ भाजपा नहीं रहती। यही वजह है कि पीडीपी के साथ गठबंधन तोड़ा गया था। राष्ट्र विरोधी पार्टियों से हमारा संबंध नहीं है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस