नई दिल्ली, एएनआइ। कांग्रेस नेता शशि थरूर (Shashi Tharoor) ने गुरुवार को अपने ट्वीट को लेकर स्पष्टीकरण दिया। उन्होंने कहा कि जो भी वो ट्वीट करते हैं वह उनका व्यक्तिगत विचार होता है। तृणमूल की सांसद महुआ मोइत्रा की हो रही निंदा पर कांग्रेस नेता ने बुधवार को बयान दिया था। इसके बाद से थरूर अपनी ही पार्टी के निशाने पर आ गए। दरअसल महुआ मोइत्रा ने देवी काली पर बयान दिया था।

थरूर ने ट्विटर के जरिए बताया कि उनका विचार व्यक्तिगत है। अलेक्जेंडर हैमिल्टन (Alexander Hamilton) का हवाला देते हुए थरूर ने लिखा, 'जो बिना बात के खड़े हो जाते हैं वो हर चीज के लिए गिर जाते हैं।' बुधवार को देवी काली को लेकर महुआ मोइत्रा द्वारा दिए गए बयान के बचाव में कांग्रेस सांसद शशि थरूर सामने आए थे। उन्होंने कहा था, 'देश भर में पूजा के हमारे तरीके अलग-अलग हैं।'

कांग्रेस नेता ने लोगों से आग्रह भी किया है। उन्होंने कहा, 'लोगों के व्यक्तिगत विचार पर धर्म को छोड़ दें। सिलसिलेवार ट्वीट में उन्होंने लिखा, ' मैं इस तरह दुर्भावना कारण उठे विवाद से अंजान नहीं हूं। हमारे देश में पूजा की विविध विधियां हैं।' उन्होंने लोगों से यह भी आग्रह किया कि धर्म को वह लोगों के निजी कार्यो तक सीमित रखें। उन्होंने ट्वीट करके कहा कि वह महुआ मोइत्रा के बयान पर बवाल को लेकर हैरान हैं।

महुआ मोइत्रा के समर्थन में उन्होंने कहा कि ये हमले वह चीज कहने के लिए हो रहे हैं जो कि हर हिंदू जानता है। हिंदू जानते हैं कि हमारी पूजा का तरीका देश के अलग-अलग हिस्सों में एक जैसा नहीं है। देवी को कोई क्या चढ़ाता है, यह देवी से ज्यादा भक्त के बारे में बताता है। शशि थरूर ने आगे कहा कि हम ऐसी स्थिति पर पहुंच चुके हैं कि अगर हम सार्वजनिक मंच पर किसी बारे में कुछ कहेंगे, तो किसी ना किसी को ठेस जरूर पहुंचेगी। यह पक्की बात है कि महुआ किसी को अपमानित नहीं करना चाहती थीं। शशि थरूर ने आगे कहा कि मैं सबसे गुजारिश करता हूं कि माहौल को थोड़ा हल्का करें, धर्म को कोई किस तरह मानता है, यह उसपर ही छोड़ दें।

महुआ मोइत्रा का समर्थन करने के बाद से शशि थरूर भी निशाने पर आ गए। कांग्रेस प्रवक्ता रागिनी नायक ने कहा, 'शशि थरूर ने जो कहा वह पार्टी का विचार नहीं है। कांग्रेस पार्टी का स्पष्ट विचार गांधी जी की तरह है कि धर्म किसी व्यक्ति का व्यक्तिगत विश्वास है। लेकिन हमें सावधान होना होगा कि हम ऐसा कुछ न करें जिससे भावनाएं आहत हों।' भारतीय जनता पार्टी के नेता अमित मालवीय ट्वीट किया, 'ममता बनर्जी की राजनीति अल्पसंख्यकों के तुष्टीकरण की है इसलिए उनके पार्टी की सांसद मां काली को लेकर ऐसा अपमान जनक बयान दिया है। TMC को उन्हें सस्पेंड कर देना चाहिए, पश्चिम बंगाल पुलिस को FIR दर्ज करने को कहा जाए। शशि थरूर के समर्थन पर भी सोनिया गांधी कांग्रेस की ओर से स्पष्टीकरण दें।

Edited By: Monika Minal