राज्य ब्यूरो, कोलकाता : हाल में भाजपा छोड़कर कांग्रेस (टीएमसी) में शामिल हुए वरिष्ठ नेता मुकुल रॉय को प्रदत्त ‘जेड’ श्रेणी की वीआइपी सुरक्षा अब उनसे केंद्र द्वारा वापस ले ली गई है। आधिकारिक सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी।सूत्रों ने बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) को 67 वर्षीय रॉय की सुरक्षा में तैनात जवानों को वापस बुलाने का निर्देश दिया है।रॉय और उनके पुत्र शुभ्रांशु पिछले हफ्ते कोलकाता में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी में शामिल हो गए थे। सूत्रों ने बताया कि भाजपा के उम्मीदवार के रूप में विधानसभा चुनाव जीतने वाले रॉय ने तृणमूल में शामिल होने के बाद खुद ही केंद्र को पत्र लिखकर सुरक्षा हटाने को कहा था जिसके बाद यह फैसला लिया गया।

मुकुल के बेटे की केंद्र ने वापस ली सुरक्षा

भाजपा से तृणमूल में गए मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय की सुरक्षा हटाई जा चुकी है। केंद्र सरकार के निर्देश पर केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल की ओर से मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय को दी गई सुरक्षा वापस ले ली गई है। बता दें कि 2017 में तृणमूल से भाजपा में आने के बाद रॉय को केंद्रीय सुरक्षा कवच प्रदान किया गया था।

तृणमूल में भी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बन सकते हैं मुकुल रॉय

राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि 2024 के लोकसभा चुनाव के लिए तृणमूल जिस तरह की रणनीति बना रही है, उसमें मुकुल की बड़ी जिम्मेदारी होगी। इससे पहले भी वह तृणमूल कांग्रेस में रहते हुए दूसरे राज्यों की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं। भाजपा में मुकुल रॉय को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष की ही जिम्मेदारी दी गई थी।

Edited By: Shashank Pandey