भोपाल, धनंजय प्रताप सिंह। महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताकर विवादों में घिरीं भोपाल की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने भाजपा सांसदों की गांधी संकल्प पदयात्रा से दस दिन बाद भी दूरी बना रखी है। भारतीय जनता पार्टी पूरे देश में गांधी जयंती यानी दो अक्टूबर से गांधी संकल्प यात्रा निकाल रही है, जो 31 अक्टूबर को सरदार पटेल जयंती पर समाप्त होगी।

इस पदयात्रा में सभी भाजपा सांसद अपने-अपने लोकसभा क्षेत्र में पार्टी पदाधिकारियों के साथ पदयात्रा कर रहे हैं। साध्वी प्रज्ञा गांधी जयंती के दिन नवरात्र उपवास की बात कहकर पदयात्रा में शामिल नहीं हुई थीं, इसके बाद पार्टी ने कहा था कि नवरात्र के बाद उनकी पदयात्रा का कार्यक्रम तैयार कर लिया गया है।

बताया जा रहा है कि साध्वी पदयात्रा से पहले भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा बुलाई गई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में भी शामिल नहीं हुई थीं।

देती रही हैं विवादित बयान

गांधी संकल्प यात्रा को दस दिन बीत चुके हैं। ऐसे में पार्टी के भीतर ही सवाल खड़े होने लगे हैं कि आखिर साध्वी के पदयात्रा में शामिल नहीं होने की वजह क्या है। इससे पहले भी साध्वी कई बार विवादों में घिर चुकी हैं। उन्होंने पुलिस अफसर हेमंत करकरे की शहादत पर सवाल उठाए थे। फिर लोकसभा चुनाव से पहले गांधीजी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया था।

साध्वी के इस बयान पर पीएम मोदी ने नाराजगी जताई थी। पूर्व वित्त मंत्री अरण जेटली और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित शोक सभा में सांसद प्रज्ञा ने कहा था कि भाजपा नेताओं को नुकसान पहुंचाने के लिए विपक्ष 'मारक शक्ति' का इस्तेमाल कर रहा है।

जल्द आएंगी प्रज्ञा

वीरानी भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह कहते हैं कि साध्वी प्रज्ञा सिंह अस्वस्थ हैं, वे पदयात्रा कर नहीं सकती हैं। वहीं जिलाध्यक्ष विकास वीरानी ने दैनिक जारगरण के सहयोगी अखबार नईदुनिया से कहा कि गांधी जयंती को साध्वी प्रज्ञा का नवरात्र का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम था। पार्टी से उन्होंने पदयात्रा में शामिल न होने की छूट ली थी। जल्द ही वे भोपाल आकर सभी विधानसभा क्षेत्रों में दो-दो दिन पदयात्रा करेंगी।

संभाल रहे स्थानीय नेता

हाईकमान के निर्देश पर शुरू हुई गांधी संकल्प पदयात्रा भोपाल लोकसभा क्षेत्र में भी जारी है, लेकिन उसका नेतृत्व स्थानीय नेता कर रहे हैं। शनिवार को भोपाल मध्य विधानसभा क्षेत्र में जिलाध्यक्ष विकास वीरानी, पूर्व विधायक ध्रुवनारायण सिंह व सुरेंद्रनाथ सिंह के नेतृत्व में पदयात्रा निकाली गई।

वहीं, गोविंदपुरा क्षेत्र में विधायक कृष्णा गौर व जितेंद्र शुक्ला के नेतृत्व में पदयात्रा निकली। स्वच्छता अभियान भी गांधी संकल्प पदयात्रा में सांसदों को 150 किलोमीटर पदयात्रा करना है। इसमें प्रतिदिन 5 से 10 किलोमीटर यात्रा सांसद कर रहे हैं। इसमें वे स्वच्छता अभियान भी चला रहे हैं। प्लास्टिक को इकठ्ठा कर क्षेत्र को प्लास्टिक मुक्त बनाने की अपील कर रहे हैं। इस यात्रा के माध्यम से गांधीवादी सिद्धांतों और सामाजिक बुराईयों के बारे में जागरूकता का संदेश दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: Modi Jinping Meet: भारत और चीन के बीच तनाव वाले मुद्दों को दरकिनार कर साझा भविष्य पर ध्यान देने का फैसला

यह भी पढ़ें: कोबरा सांप को हाथ में लेकर लड़कियों ने किया गरबा डांस, Viral Video के बाद मामला दर्ज

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस